मीडिया से बोले हार्दिक
इस क्रम में ओबीसी आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन करने उतरे हार्दिक पटेल रविवार को दिल्ली में मीडिया के सामने आए। हालांकि इस मुद्दे को लेकर वह कुछ दिशाहीन से दिखे। कभी जातिगत आरक्षण को लेकर चर्चा करते दिखे, तो कभी आर्थिक आरक्षण पर। यहां मीडिया से रूबरू होते हुए उन्‍होंने कहा कि ये जगजाहिर है कि बीते 60 सालों में आरक्षण से देश बर्बाद ही हुआ है या तो सरकार आर्थिक तौर पर कमजोर और योग्य लोगों को भी आरक्षण दे या फिर इसे पूरी तरह से खत्म कर दे। वहीं इसके बाद में उन्होंने ये भी कहा कि वह अपने समुदाय के एक कमजोर तबके लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

अब उत्‍तर-प्रदेश की ओर
हार्दिक के आरक्षण की मांग की आग अब उत्तर प्रदेश तक पहुंचने की ओर है। दिल्ली में हार्दिक पटेल ने उत्तर प्रदेश को लेकर बड़ा बयान भी दिया है। उन्‍होंने कहा है कि वह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी धरना देना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश में कुर्मी बिरादरी की ओर हार्दिक पटेल की निगाह लगी है। उत्तर प्रदेश में कुर्मी बिरादरी के लोगों की बड़ी संख्या है। फिलहाल उत्तर प्रदेश में कुर्मी बिरादरी की राजनीति अपना दल कर रहा है। अपना दल से उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में कुर्मी जुड़े हैं।

कुर्मी बिरदारी को एक करने की योजना
इस समय अपना दल के दो सांसद भी हैं। इनमें से एक अनुप्रिया पटेल अपना दल के संस्थापक स्व. सोनेलाल पटेल की बेटी हैं। अपना दल अभी उत्तर प्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है। पार्टी में पारिवारिक विवाद के चलते इसका अस्तित्व खतरे में है। इसको देखते हुए हार्दिक पटेल अब उत्तर प्रदेश की कुर्मी बिरादरी को एकजुट करने की योजना बनाते दिखाई दे रहे हैं।

जंतर-मंतर पर बोले हार्दिक
हार्दिक पटेल ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर कहा है कि अब वो कुर्मी बिरादरी को एकजुट कर लखनऊ में आंदोलन चलाएंगे। उन्‍होंने बताया कि वह  लोग जंतर-मंतर पर विरोध-प्रदर्शन रैली करने पर विचार कर रहे हैं, वहीं वो लोग ऐसा लखनऊ में भी कर सकते हैं। उन्‍होंने ये भी बताया कि वह जाटों और गुर्जरों को आरक्षण के लिए भी समर्थन देना चाहते हैं।

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk