patna@inext.co.in

PATNA : हाईकोर्ट ने शुक्रवार को नगर निगम आयुक्त को जमकर फटकार लगाई. अदालत को उस समय हैरानी हुई जब बताया गया कि प्रति शौचालय मरम्मत के लिए 8 लाख रुपए लगाए गए. निगम की ओर से गंदगी से भरे शौचालयों को क्लीन बताया गया. खुद कोर्ट ऑफिसर ने फोटो और वीडियोग्राफी का अवलोकन किया . साफ दिख रहा था कि शौचालय के बाहर गंदगियों का अंबार लगा हुआ है. इसके बाद निगम आयुक्त को बुलावा भेज कोर्ट में खड़ा कराया गया. जितेन्द्र कुमार सिंह की लोकहित याचिका पर मुख्य न्यायाधीश एमआर शाह एवं न्यायाधीश आशुतोष कुमार की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील मणि भूषण प्रताप सेंगर ने शौचालयों की तस्वीरें अदालत में पेश की. गंदगी देख अदालत ने नाराजगी जाहिर की. कोर्ट ने आयुक्त को कसकर डांट लगाई. और उनके खिलाफ अवमानना का मामला चलाने की चेतावनी भी दी.