आंध्रप्रदेश व तेलंगाना के बाद अब करीब पूरा देश लू की चपेट में आ गया है. राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में पारा चढऩे से लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. प्रचंड गर्मी से विभिन्न राज्यों में मरने वालों की संख्या बढक़र साढ़े सात सौ के पार तक पहुंच गई है. यह कहर अभी अगले दो दिन तक जारी रहेगा ऐसा मौसम विभाग का अनुमान है.

आंध्र प्रदेश में दो दिनों में करीब 200 लोगों की मौत हुई है जिससे यहां मरने वालों की संख्या बढक़र अब साढ़े 500 के ऊपर हो गई है. इससे पहले राज्य में मरने वालों की संख्या 302 थी. अकेले गुंटूर जिले में ही 104 लोगों की गरमी से जान जा चुकी है. पूरे देश में गर्मी से मरने वालों की तादात करीब 852 का आकड़ा पार कर गयी है.

आपदा प्रबंधन की विशेष कमिश्नर तुलसी रानी ने बताया कि विजयनगरम में लगभग 84, विशाखापत्तनम में 61 और प्रकाशम जिले में लू से 57 लोगों की मौत हुई है. दिल्ली, तेलंगाना, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश, ओडिशा व पश्चिम बंगाल में पारा 45 डिग्री सेल्सियस पर है. दिल्ली में मंगलवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री दर्ज हुआ जो सोमवार की अपेक्षा 0.5 डिग्री कम था, जबकि कश्मीर घाटी में मौसम सुहावना है. यहां का तापमान लगभग 22 डिग्री दर्ज किया गया.
 
मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार, मंगलवार को ओडिशा के अंगुल में तापमान सबसे ज्यादा 47  डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि महाराष्ट्र के वर्धमान में तापमान 46.5  डिग्री रहा.  

आगरा सबसे गर्म
उत्तर प्रदेश में आगरा सबसे ज्यादा गर्म रहा. मंगलवार को वहां तापमान 46.1  डिग्री रिकार्ड किया गया.  जबकि बांदा में तापमान 46  डिग्री सेल्सियस रहा. इस बीच तपिश के बीच उत्तर व दक्षिण भारत में दो दिनों में गरज के साथ आंधी आने की संभावना व्यक्त की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, फिलहाल अभी दो दिनों तक भीषण गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है.

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk