राहत के साथ आफत
सोमवार का दिन कहीं राहत तो कहीं आफत बनकर आया। भारी गर्मी और चिलचिलाती धूप से बचने के लिए लोग बारिश का इंतजार कर रहे थे लेकिन तेज तूफान ने हिला कर रख दिया। हालत ये रही कि कई जगहों पर ब्लैकआउट जैसी स्थिति बनी रही और इस वजह से घंटों बिजली गायब रही। सोमवार का आयी आंधी और बारिश ने जहां दिल्‍ली शहर का मौसम सुहाना कर दिया तो वहीं कई जगहों पर सड़कों पर गिरे पेड़ राह चलते लोगों की मुसीबतें बढ़कर रख दी। तूफान कितना तेज था इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के 11 अकबर रोड वाले घर का पेड़ गिर गया। गनीमत ये रही कि वहां पर मौजूद कार्यकर्ताओं को चोट नहीं आई। वहीं दूसरी तरफ 11 पंडित मार्ग पर पेड़ गिरने के वजह से घंटों यातायात बाधित रहा।

गुड़गांव में भी तूफान से ब्लैकआउट
देश की राजधानी दिल्ली से सटे साइबर सिटी कहे जानेवाले गुड़गांव को तेज आंधी ने ऐसा हिलाया कि पूरे शहर में ब्लैकआउट जैसी स्थिति हो गई। यहां पर परिवहन व्यवस्था की हालत ये हो गई 225 फीडर बसों में से 175 फीडर सेवा बंद करनी पड़ी। तो वहीं बिजली भी घंटों गायब रही।

शिमला में भी फैली अव्‍यवस्‍था
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में सोमवार को सुबह तेज धूप खिली लेकिन दोपहर होते-होते काले बादल घिर गए। उसके बाद बादलों के तेज गर्जन के साथ दोपहर करीब 12 बजे तूफान और बारिश का दौर शुरू हो गया। अचानक मौसम में आए इस बदलाव के कारण शिमला में दिन में ही अंधेरा छा गया। जिसकी वजह से गाड़ी चालकों को सड़क पर दिन में भी लाइट जलाकर चलना पड़ा। हालांकि, इस तेज आंधी और बारिश की वजह से तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है।

weather in Delhi

यूपी में तेज आंधी बिजली आपूर्ति ठप
तेज आंधी और बारिश की वजह से लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत जरूर मिली हो लेकिन उत्तर प्रदेश में ये लोगों के लिए मुसीबत बनकर सामने आया। तूफान के चलते राज्य के कई हिस्सों में घंटों बिजली गुल रही। दिल्ली से सटे साहिबाबाद में इस बारिश के चलते करीब 4 घंटे तक लोग बिजली के आने का इंतजार करते रहे। आंधी और बारिश कम होने के बाद बिजली विभाग के कर्मचारियों ने पेट्रोलिंग शुरू की जिसमें करीब एक दर्जन जगहों पर फाल्ट मिले। वहीं, वैशाली और वसुंधर में ट्रांसफॉर्मर फुंकने की वजह से आठ घंटे तक बिजली का आपूर्ति ठप रही।

अंबाला में रिकॉर्ड बारिश
हरियाणा में मौसम विभाग की भविष्यवाणी बिल्कुल सटीक रही। मॉनसून से पहले दिन में रिकॉर्ड 31 एमएम की बारिश दर्ज की गई है। झमाझम हुई इस बारिश ने जहां चिलचिलाती गर्मी से तुरत लोगों को राहत दी है तो वहीं पश्चिमी विक्षोभ के कारण हुई इस बारिश से किसानों से लेकर हर वर्ग को फायद होगा। अंबाला में करीब रुक-रूक कर होती रही बूंदाबांदी के चलते करीब 8.5 एमएम बरसात दर्ज की गई। लेकिन दोपहर तीन बजते हि अंधेरा छा गया और उसके बाद चार बजे तक खूब जमकर बारिश हुई और ये 31 एमएम दर्ज की गई।

National News inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk