क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : हेवी इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन(एचईसी) झारखंड का पहला उपक्रम है, जिसने ऊर्जा बचाने की पहल शुरू कर दी है. इसके लिए एचईसी एचईसी 20 इलेक्ट्रिक कार किराए पर लेने वाला है. ट्रायल के रूप में एक कार दी गई है. सफल होने के बाद और भी कारे यहां दी जाएंगी. एनर्जी एफि सियंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) कंपनी की ओर से यह इलेक्ट्रिक कार एचईसी को दी गई है. इसके लिए दोनों में एमओयू हुआ है. मालूम हो कि एचईसी के प्लांटों की एनर्जी ऑडिट करायी गई है, इसके तहत ऊर्जा की खपत में कमी लाने के लिए योजनाएं बनी हैं. इस काम में ईईएसएल सहयोग कर रहा है.

बदले जाएंगे डीजल वाहन

एचईसी ईईएसएल से 20 इलेक्ट्रिक कार किराए पर लेगा. प्रति कार 25 हजार रुपए प्रतिमाह भुगतान करेगा. इसके लिए भी एमओयू किया गया. केंद्र सरकार और भारी उद्योग मंत्रालय के निर्देश पर एचईसी के सभी डीजल वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदला जाएगा.

एलईडी लाइट्स भी लगेंगी

ईईएसएल द्वारा एचईसी के सभी बिजली उपकरणों बल्ब, पंखे, एसी आदि को एलईडी से बदला जाएगा. इसमें होने वाला खर्च भी ईईएसएल ही वहन करेगा. एचईसी पांच साल में इसकी भरपाई ईईएसएल को करेगा. एलईडी उपकरणों के बदलने से बिजली की बचत कर इसका भुगतान किया जाएगा. करीब 16 हजार उपकरण बदले जाएंगे, इस पर 14 करोड़ रुपए खर्च होंगे.