-- बस्तियों में मल्टीस्टोरी बनाने के पहले ही प्रोजेक्ट में केडीए को लगा झटका, दो बार टेंडर किए जाने के बाद नहीं मिली सफलता

kanpur@inext.co.in

KANPUR: प्रधानमंत्री आवास योजना के अ‌र्न्तगत इनसीटू में केडीए को अभी तक असफलता हाथ लगी है. इस समस्या के हल के लिए केडीए ने सेंट्रल गवर्नमेंट के कंसलटेंट से मदद लेने की तैयारी की है. जिससे बस्तियों में रहने वालों को मल्टीस्टोरी में फ्लैट उपलब्ध कराकर बाकी बची जमीन पर रेजीडेंशियल व कामार्शियल प्रोजेक्ट लाया जा सके.

10 एकड़ जमीन

गौरतलब है कि केडीए ने प्रधानमंत्री आवास योजना के इनसीटू कम्पोनेंट के लिए किदवई नगर एस ब्लाक (जूही) की जमीन चुनी है. यह जमीन केडीए की है और एरिया लगभग 25 एकड़ हैं. इस जमीन पर कच्चे मकान बने हुए हैं. इनमें रहने वालों का केडीए सत्यापन कर चुका है. सेंट्रल गवर्नमेंट की गाइडलाइंस के मुताबिक केडीए ने बस्ती में रहने वालों के लिए 10 एकड़ में मल्टीस्टोरी बनाने की प्लानिंग की है. शेष बची 15 एकड़ जमीन पर रेजीडेंशियल व कॉमर्शियल प्रोजेक्ट लाया जाना प्रस्तावित है. इसके लिए केडीए दो बार टेंडर भी कर चुका है. पर दोनों ही बार सफलता हाथ नहीं लगी. किसी ने टेंडर नहीं डाले हैं. इसी वजह से केडीए ने सेंट्रल गवर्नमेंट के कंसलटेंट की मदद लेने की तैयारी की है. जिससे कि इस समस्या का हल निकल सके.

दो दिन में ऑनलाइन सिस्टम

प्रधानमंत्री आवास योजना के फ्लैट्स के चुने गए लोगों की इन दिनों केडीए स्थित एक बैंक में भीड़ लगी है. फॉर्म लेने व जमा करने के लिए दिन-दिन भर लाइन लगी रहती है. इस समस्या को देखते हुए केडीए ने अगले दो दिनों में ऑनलाइन सिस्टम चालू करने की तैयारी की है. जिससे लोगों को दौड़ न लगानी पड़े.