- सुरक्षा के लिए वाहनों के शीशे पर लगेगा बार कोड

- बार कोड में होगी वाहनों की पूरी डिटेल

- अपराध पर भी लग सकेगी लगाम

- हर प्लेट का 7 अंकों का एक यूनिक नंबर होगा

- प्रेशर से लिखे जाएंगे नंबर

आगरा। अब आने वाले नए वाहनों में जल्द ही आपको हाईटेक सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगी नजर आएगी। परिवहन विभाग ने इसकी डिजायन तैयार कर दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। एल्युमीनियम की हाईटेक नबंर प्लेट में विशेष लॉक लगा होगा। इसे न बदला जा सकेगा न ही तोड़ा जा सकेगा। इस प्लेट के टूट जाने पर बाजार में इसे बदला नहीं जा सकेगा।

हर नंबर प्लेट पर होगा 7 अंकों का यूनिक नंबर

आरटीओ के अधिकारियों की मानें तो हाईटेक सिक्योरिटी नबंर प्लेट पर 7 अंकों का एक यूनिक नंबर होगा। हर प्लेट का नंबर अलग होगा। प्लेट पर एक होलोग्राम भी बना होगा, जिस पर उस वाहन का इंजन और चेसिस नंबर भी अंकित होगा। विभागीय अधिकारियों के अनुसार इस प्लेट पर प्रेशर से नंबर लिखे जाएंगे। ये उभरते हुए नजर आएंगे। इनको बदला नहीं जा सकेगा। प्लेट में मौजूद विशेष लॉक को स्नैप लॉक से विभाग से कनैक्ट कर दिया जाएगा। इस व्यवस्था के लागू होने से चौराहों पर लगे कैमरे आसानी से रीडिंग कर पाएंगे। ऐसा होने से अपराधियों पर लगाम कसी जा सकेगी।

वाहन चोरी पर लग सकेगी लगाम

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लागू होने से वाहनों की चोरी पर लगाम लग सकेगी। जो बार कोड दिया जाएगा, उस पर वाहन की पूरी डिटेल दर्ज होगी। वाहन का बार कोड और हाई सिक्योरिटी नबंर प्लेट का बार कोड एक ही होगा। उसे अलग नहीं किया जा सकेगा, जो आरटीओ द्वारा मुहैया कराया जाएगा। ऐसे में यदि वाहन चोरी होता है, तो नबंर प्लेट नहीं बदली जा सकेगी। यदि किसी तरह नंबर प्लेट बदली जाती है, तो वाहन का बार कोड भी बदलना होगा, जो आरटीओ के यहां से मिलता है। ऐसे में ये संभव नहीं हो सकेगा। इस प्रकार हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के आने से वाहन चोरी पर लगाम लग सकेगी।

वाहन के शीशे पर लगेगा बार कोड

अगले महीने से आरटीओ ऑफिस में रजिस्टर्ड होने वाले वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट और बार कोड से लैस होने पर ही वाहन को रोड पर उतारा जाएगा। ये शीशे के फ्रंट और बैक में प्लेट पर लेफ्ट की तरफ अंकित किया जाएगा। इस बार कोड पर वाहन की पूरी डिटेल दर्ज होगी। स्कैनर के माध्यम से इस कोड को स्कैन करके वाहन और उसके मालिक की पूरी जानकारी मिल सकेगी। इस बार कोड को बदलने के लिए गाड़ी का शीशा ही तोड़ना पड़ेगा।

हो जाएगा चालान

अगर कोई नया व्हीकल्स बिना हाई सिक्योरिटी नबंर प्लेट बार कोड के ऑन रोड नजर आया, तो ट्रैफिक पुलिस ऐसे वाहन का चालान कर सकेगी।

लुटेरों पर रहेगी कैमरे की नजर

हाई सिक्योरिटी नबंर प्लेट पर उभरे हुए नबंरों को शहर के चौराहों पर लगे कैमरे कैच कर सकेंगे। जब नंबर प्लेट से वाहन के नबंर रीड हो जाएंगे, तो कोई भी अपराधी आसानी से पुलिस की पकड़ में आ सकेगा।