- कई किमी. तक लगी ट्रकों की लाइन

- भीड़ की कई जगह लोगों से झड़प

आगरा. एससीएसटी एक्ट के विरोध में सर्व समाज संघर्ष समिति व सवर्ण संगठनों ने आगरा-ग्वालियर हाईवे पर जाम लगा दिया. इस दौरान आक्रोशित लोगों की पुलिस से झड़प भी हो गई.सैंया में लोगों ने बसों में तोड़फोड़ भी कर दी. सुबह 11 बजे से दोपहर तक जाम की स्थिति बनी रही. इसके चलते हाईवे बाद से लेकर तेहरा, बीरई, सैंया तक कई किमी. तक वाहनों की लाइन लग गई. पुलिस फोर्स पहुंचने पर दोपहर तक भी यातायात सामान्य नहीं हो सका था. दोपहर तक भी प्रदर्शनकारी रोड पर रुके हुए थे.

रोहता पर लगाया जाम, कमाल खां में नोंकझोंक

एससीएसटी एक्ट के विरोध में आक्रोशित भीड़ ने जाम लगाकर जमकर हंगामा किया. घंटों लोगों ने वाहनों को रोके रखा. वहीं दूसरी और धनौली नरीपुरा मोड़ और कमाल खां में दुकान बंद करने को लेकर लोगों की नोंकझोंक हुई.

भाजपा विधायकों और नेताओं को झेलनी पड़ी नाराजगी

प्रदर्शन के बीच भाजपा विधायक आगरा ग्रामीण हेमलता दिवाकर अरतौनी गांव में एक शोक सभा में पहुंची थी. उस दौरान एससीएसटी आन्दोलन में भारत बंद का समर्थन करने वाले लोगों ने गाड़ी को रोक लिया. इस दौरान जमकर नारेबाजी की. सुरक्षाकर्मियों ने ऐसे-तैसे निकाला वहीं मोहन सिंह चाहर को भी विरोध झेलना पड़ा.

यहां भी लगाया जाम

शहर देहात क्षेत्र में कई स्थानों पर लोगों ने जाम लगाकर विरोध जताया तो कहीं अपने प्रतिष्ठान बंद रखे. इसमें न्यू दक्षिणी बाईपास पर लोगों ने जाम लगा दिया. धनौली, ककुआ, बाद, मलपुरा, नौमील, इटौरा समेत कई स्थानों पर बाजार बंद रहे.

इन संगठनों ने किया बंद में सहयोग

गुरुवार को आगरा बंद में सर्व समाज संघर्ष समिति सवर्ण संगठनों के अलावा व्यापारिक संगठनों ने सहयोग किया. इसमें ट्रांसपोर्ट चैम्बर, सराफ, सदर बाजार ट्रेड एसोसिएशन, खाद्य व्यापार समिति, आगरा पब्लिक करियर, लोहा व्यापार संगठन, इलैक्ट्रोनिक्स, इलैक्ट्रीकल्स, आगरा गुड्स करियर, होजरी मैन्यूफेक्चरिंग, सुभाष बाजार, छीपीटोला, रावतपाड़ा, किनारी बाजार, सिंधी बाजार आदि व्यापारिक संगठनों ने बंद में सहयोग किया.