- ट्यूजडे को जो झटका आया वह 25 अप्रैल को एनर्जी न रिलीज होने की वजह से आया

- कब भूकंप आएगा इसकी कोई भविष्यवाणी नहीं की जा सकती

kanpur@inext.co.in

KANPUR:

नेपाल बिहार में बीती ख्भ् अप्रैल को जो अर्थक्वैक आया था उसकी तीव्रता वह नहीं थी जैसे कि एक्सपर्ट मानकर चाल रहे थे. उस टाइम 7.8 मैग्नीट्यूड का भूकंप आया था. मंगलवार को जो भूकंप आया उसका मैग्नीट्यूड 7.फ् रहा. यह भूंकप नया जरूर है लेकिन इसकी एनर्जी का सेंटर वहीं हैं जो ख्भ् अप्रैल को थी. यह पहला मौका है जब क्7 दिन में दो बार एक ही एपीसेंटर के पास से भूकंप आया है. अब इनके ऑफ्टरशॉक भी लगते रहेंगे. हिमालय मे डेली भूकंप आता है. इसका एरिया ख्ब्00 से ख्800 किमी के बीच है.

बुधवार की दोपहर तक क्8 झटके लगे

स्ट्रक्चर इंजीनियरिंग के एक्सपर्ट प्रोफेसर दुर्गेश चन्द्र राय ने बताया कि कोडारी के पास मंगलवार को आने वाले भूकंप का एपीसेंटर था. अहम बात यह थी अप्रैल के भूकंप में दो ऑफ्टरशॉक काफी तेज आए थे जिनकी तीव्रता म् के ऊपर थी. मंगलवार को जो झटका आया उसके फ्0 मिनट बाद जो ऑफ्टरशॉक आया उसकी तीव्रता म्.ख् थी. जिससे कानपुर में भी फील किया गया. बुधवार की दोपहर क्ख्.फ्0 बजे तक क्8 ऑफ्टरशॉक आ चुके थे. यह सभी झटके तीन मैग्नीट्यूड के ऊपर के थे. हालांकि मंगलवार को कोडारी में क्ख् से क्ख्.फ्0 बजे के बीच तीन ऑफ्टरशॉक लगे. जिनकी तीव्रता ब्.ब् से ब्.8 के बीच थी. भूकंप कब आएगा इसकी कोई जानकारी नहीं दी जा सकती है.