बरेली:

यूपी बोर्ड परीक्षा में ट्यूजडे को हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की पहली बड़ी परीक्षा हुई. कड़ी चुनौती को पार करने के लिए खुद डीएम मैदान में उतरे. एडीएम, सिटी मजिस्ट्रेट व एसडीएम ने भी केंद्रों पर पहुंचकर परीक्षा की गुणवत्ता का जायजा लिया. जिला व मंडलीय सचल दलों ने ्रपरीक्षा केंद्रों पर छापेमारी की. बिशप मंडल इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र पर पहली पाली की परीक्षा में चार मजिस्ट्रेट के दल पहुंचे, जबकि दूसरी पाली की परीक्षा में कोई नहीं पहुंचा.

परीक्षा केंद्रों पर पहुंचना बना चुनौती

परीक्षा केंद्र निर्धारण की लापरवाही का खामियाजा छापेमारी टीम को उठाना पड़ रहा है. मंगलवार को जोनल, सेक्टर व स्टेटिक मजिस्ट्रेट को केंद्रों तक पहुंचने के लिए मशक्कत करनी पड़ी. मढ़ीनाथ क्षेत्र में राजकुमारी इंटर कॉलेज संकरी गली में होने के कारण परीक्षार्थियों की गली में बाइक्स खड़ी थीं. मजिस्ट्रेटों को दूर गाडि़यां खड़ी करके यहां जायजा लेने पहुंचना पड़ा. कुछ केंद्रों पर प्रवेश पत्रों की गड़बडि़यों की वजह से परीक्षार्थियों को दाखिल होने में परेशानी हुई तो कहीं मॉडल पेपर लेकर पहुंचे परीक्षार्थियों की सघन तलाशी हुई.

यह रही परीक्षा की स्थिति

सुबह की पाली --पंजीकृत --उपस्थित --अनुपस्थित

हाईस्कूल --

इंटरमीडिएट ---

दोपहर की पाली --पंजीकृत --उपस्थित --अनुपस्थित

इंटरमीडिएट ---

-परीक्षा केन्द्र पर आने से पहले डर लग रहा था, लेकिन जब पेपर देखा तो काफी ईजी था. पूरा पेपर अच्छा हुआ.

शीतल, इंटरमीडिएट

------------------

-रात में भी काफी देर तक पढ़ाई की और सुबह जल्दी आंख खुल गई. डर लग रहा था कि पता नहीं कितना हार्ड पेपर होगा, लेकिन पेपर ईजी था.

शहनवाज, इंटरमीडिएट

-------------------

-एग्जाम के लिए जो तैयारी की थी, उसमें से काफी याद किया हुआ ही आया. इसीलिए पेपर अच्छा हुआ.

यश गुप्ता, इंटरमीडिएट