आठ दिन का होता है होलिकाष्टक कर समय

ज्योतिषी भी इन दिनों में कोई शुभ काम न करने की दे रहे सलाह

meerut@inext.co.in

MEERUT : 21 मार्च तक होलिकाष्ट हैं. हिंदू समाज में इन दिनों कोई भी शुभ व मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं. आठ दिनों के होलिकाष्टक के दौरान केवल होली की धूम रहती है व होलिका पूजन ही होता है, इसके अलावा कोई और मांगलिक कार्य करना अशुभ माना जाता है. ऐसे में ज्योतिषी भी इन दिनों में कोई शुभ काम न करने की सलाह दे रहे हैं, इसके अलावा अगर कोई करना भी चाहता है तो उसे उपाय पहले बता रहे हैं.

क्या है होलिकाष्टक

ज्योतिषों के अनुसार भारतीय मुहूर्त विज्ञान और ज्योतिष शास्त्र प्रत्येक कार्य के लिए शुभ मुहूर्तो का शोधन कर उसे करने की अनुमति देता है. कोई भी कार्य यदि शुभ मुहूर्त में किया जाता है तो वह उत्तम फल प्रदान करने वाला होता है. इस प्रकार होलाष्टक को च्योतिष की दृष्टि से एक होलाष्टक दोष माना जाता है जिसमें कोई शुभ कार्य या नया कार्य नहीं किया जाता है.

21 तक है होलिकाष्टक

विद्वानों के मुताबिक होलिकाष्टक 21 मार्च होलिका दहन के बाद ही समाप्त होगा. इस समय विशेष रूप से विवाह, नए निर्माण और नए कायरें को आरंभ नहीं करना चाहिए. इन दिनों में किए गए कायरें से कष्ट, अनेक पीड़ाओं की आशंका रहती है. विवाह आदि संबंध विच्छेद और कलह का शिकार हो जाते हैं या फिर अकाल मृत्यु का खतरा या बीमारी होने की आशंका बढ़ जाती है.

क्या करते हैं होलिकाष्टक में

माघ पूíणमा से होली की तैयारियां शुरु हो जाती है. होलाष्टक आरंभ होते ही दो डंडों को स्थापित किया जाता है, इसमें एक होलिका का प्रतीक है और दूसरा प्रहलाद से संबंधित है. ऐसा माना जाता है कि होलिका से पूर्व 8 दिन दाह-कर्म की तैयारी की जाती है. यह मृत्यु का सूचक है. इस दुख के कारण ही 8 दिनों तक कोई भी शुभ कार्य नही होता है. जब प्रहलाद बच जाता है,उसी ़खुशी में होली का त्योहार मनाते हैं, उसके बाद ही रंग वाले दिन तक रहता है, रंग खेलने के बाद ही शुभ काम हो सकते हैं.

ये है जरुरी

17 मार्च- रंग की एकादशी

20 मार्च - बुधवार को होली पूजन

20 मार्च- होली दहन का समय 8.36 मिनट के बाद

21 मार्च- होलिका उत्सव, दुलहड़ी, धुलहंडी

22 मार्च- चित्रगुप्त पूजन

28 मार्च - बसौड़ा पूजन शीतला अष्टमी

क्या कहते हैं ज्योतिष

होलीकाष्टक होली दहन के बाद समाप्त हो जाएगा, इन दिनों शुभ काम नहीं करते हैं, कुछ नेता भी अपनी राशि के हिसाब से उनसे शुभ -अशुभ की जानकारी लेने पहुंच रहे हैं.

समीर भटनागर, ज्योतिषाचार्य

आठ दिन होलीकाष्टक होता है, होलीकाष्टक के समय शुभ कार्य करने पर विभिन्न बड़ी समस्याएं आती है, इसलिए इन दिनों शुभ काम नहीं करने चाहिए.

भारत ज्ञान भूषण, ज्योतिषाचार्य