मेडिकल कॉलेज में ई-हॉस्पिटल का शुभारंभ, मिलेगी ओआरएस और बिलिंग सर्विस की सुविधा

मेरठ समेत 6 शहरों के मेडिकल कॉलेज और दो संस्थानों में शुरु हुई व्यवस्था

Meerut. मेडिकल कॉलेज में आने वाले मरीजों को अब पर्चा बनवाने के लिए लंबी लाइनों में लगने की जरूरत नहीं हैं. ओपीडी में डॉक्टर से परामर्श के लिए मरीज पहले से ही ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट ले सकता है. इसके लिए मेडिकल कॉलेज में पहली बार ई-हॉस्पिटल की सेवा शुरू की गई है. शनिवार को मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. आरसी गुप्ता, डॉ. एसके गुप्ता, नोडल इंजार्च डॉ. मनीष सैनी, डॉ. प्रदीप, डॉ. लोकेश, सीएमएस डॉ. अजीत चौधरी ने ई-हॉस्पिटल का हब रूम का अनावरण किया. ई-हॉस्पिटल के पहले फेस में मरीजों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, ऑनलाइन पर्चा, अप्वाइंटमेंट और बिलिंग की सेवा प्रदान की जाएगी.

मिलेगा ऑनलाइन पर्चा

ई-हॉस्पिटल के नोडल अधिकारी डॉ. मनीष सैनी ने बताया कि ई-हॉस्पिटल के लिए पूरे अस्पताल में फिलहाल 70 कंप्यूटर लगाए गए हैं. ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट वाले मरीज सुबह 11.30 बजे से 12.30 बजे तक डॉक्टर से मिल सकेंगे. हर ओपीडी के लिए अप्वाइंटमेंट की संख्या निर्धारित की गई है. इसके बाद दूसरा फेज लागू होगा, जिसमें सभी दवाएं और फार्मेसी को ऑनलाइन किया जाएगा. जबकि तीसरे फेज में रेडियोलॉजी और जांचों को शामिल किया जाएगा. सर्वर डाउन की प्राब्लम न हो इसके लिए फोर फेस नेटवर्क बैकअप की व्यवस्था की गई हैं. मरीजों को अब ऑनलाइन पर्चा ही दिया जाएगा. एक हफ्ते से लगातार इसका ट्रायल भी किया जा रहा था.

पहला पर्चा फुरकान का

एनआईसी लखनऊ और एकेटीयू के सहयोग से लखनऊ में यूपी मेडिकल एंड टैक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन गोपालजी ने योजना का लोकार्पण हुआ. इस दौरान पहला रजिस्ट्रेशन मेरठ के 22 वर्षीय फुरकान अली का हुआ. मेरठ समेत झांसी, लखनऊ, कानपुर, आगरा, इलाहाबाद, गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज और कानपुर के एलपीएस इंस्टि्ीटयूट ऑफ कार्डियोलॉजी और जेके इंस्टि्टॅयूट में एक साथ इस सेवा का शुभारंभ किया गया है.

ई-हॉस्पिटल का पहला फेज शुरु हो गया है. इस प्रणाली से मरीज का पूरा डाटा ऑनलाइन होगा. मरीज पहले से भी अप्वाइंटमेंट लेकर समय की बचत कर सकता है. इसके लिए ओआरएस.जीओवी.इन पर जाकर समय ले सकते हैं.

डॉ. रमेश चंद्र गुप्ता, प्रिंसिपल, मेडिकल कॉलेज