ग्लोबल लेवल पर वापस लिए जा रहे ये मॉडल
बाजार से इन मॉडलों की 2002 से 2003 के दौरान बनी यूनिट्स को वापस लिया जा रहा है. कंपनी ग्लोबल लेवल पर इन मॉडलों को वापस ले रही है. यात्री एयरबैग में संभावित गड़बड़ी के मद्देनजर कंपनी ने जून, 2014 में इसकी घोषणा की थी. कंपनी बाजार से अकार्ड की 1,985 व सीआर-वी की 253 यूनिट्स वापस लेगी. वर्ष 2002 से 2003 के बीच बनीं कारों को वापिस लिया जा रहा है. यात्री एयरबैग में संभावित गड़बड़ी के चलते कंपनी ने जून 2014 में ये कारें फिर से लेने की बात कही थी. कंपनी बाजार से अकॉर्ड की 1 हजार 985 और सीआर वी की 253 कारें वापिस लेगी. होंडा कार्स इंडिया ने एक बयान में यह जानकारी दी. पिछले महीने होंडा मोटर कंपनी 2000-02 के दौरान बने खराब एयरबैग इनफ्लेटर्स को बदलने के लिए वैश्विक स्तर पर बाजार से 20 लाख वाहन वापस लेने का ऐलान किया था. कंपनी ने एक बयान में कहा कि इंडियन मीडिया में इस मसले पर रिपोर्टिंग नहीं हुई है.

महिंद्रा एंड महिंद्रा भी वापस ले चुकी है कारें

इसी महीने में पहले, मंहिद्रा एंड महिंद्रा ने भी लगभग 23,000 कारें बाजार से वापस ली थीं. कंपनी ने पॉपुल्यर एसयूवी स्कॉर्पियो वापस लिए थे. क्योंकि इनके प्रेशर रेग्युलेटिंग वॉल्व में फॉल्ट था. जब से ऑटो इंडस्ट्री बॉडी Siam ने वेहिकल्स को बाजार से वापस लेने की सेफ्टी पॉलिसी शुरु की है तब से लगभग f 6,09,676 गाड़ियां बाजार से वापस ली जा चुकी हैं.

Business News inextlive from Business News Desk