-बहेड़ी में किशोर की हत्या के मामले में प्रेमिका का पिता व चाचा गिरफ्तार

BAREILLY: बहेड़ी के इटौआ धुरा गांव में 17 वर्षीय किशोर राजवीर उर्फ फूलबाबू की हत्या प्रेमिका के पिता और चाचा ने की थी. प्रेमिका के पिता ने बेटी को राजीवर के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था. जाति अलग होने के चलते उसने राजवीर को बेटी से न मिलने की सख्त हिदायत दी थी लेकिन जब राजवीर नहीं माना तो फिर उसने प्रेमी को रास्ते से हटा दिया. पुलिस ने सर्विलांस की मदद से प्रेमिका के पिता और चाचा को गिरफ्तार कर लिया है. पिता गांव का चौकीदार है और पुलिसकर्मियों को अच्छी तरह से जानता है. पुलिस ने आला कत्ल भी बरामद कर लिया है.

4 जुलाई को मिली थी लाश

एसपी रूरल डॉ. सतीश कुमार ने बताया कि इटौआ धुरा गांव निवासी 17 वर्षीय किशोर राजवीर सागर उर्फ फूलबाबू की लाश 4 जुलाई को गौटिया अहमद नगर में गन्ने के खेत में मिली थी. उसके पास से मोबाइल मिला था, जिससे उसकी पहचान हुई थी. उसका फोन भी स्विच ऑफ जा रहा था. पुलिस को शुरुआती जांच में ही प्रेम प्रसंग में हत्या का मामला लग रहा था और पुलिस ने चौकीदार से पूछताछ भी की थी लेकिन कोई प्रूफ नहीं मिल रहा था. पुलिस ने जब सर्विलांस की मदद ली तो उसमें कई नंबर सामने आए. इसी दौरान एक महिला ने अधिकारियों को बताया था कि राजवीर एक युवक के साथ जाता दिखाई दिया था, जिसके लाल रंग के बाल थे और उसने कान में कुंडल पहना था.

पंजाब के नंबर से कॉल

पुलिस ने जब कॉल डिटेल निकाली तो लास्ट काल पंजाब के नंबर से आयी. जब पुलिस ने इस नंबर पर बात की तो पता चला कि एक किशोर ने मामा के नंबर से कॉल की थी. किशोर सनैया रानी सीबीगंज का रहने वाला है. इस नंबर से चौकीदार दिनेश को भी कॉल की गई थी. जिसके बाद पुलिस ने किशोर को देहरादून से पकड़ा तो उसने बताया कि भाई आकाश ने उससे फोन करवाया था. भाई कुछ दिनों पहले ही पंजाब से बरेली गया था. उसने गांव के किसी के नंबर से कॉल की थी और कहा था कि राजवीर को फोन करके कहे कि उससे जरुरी बात करनी है और वह गांव के बाहर मिले.

मर्डर कर पंजाब फरार

पुलिस ने फिर आकाश को पकड़ा तो उसने बताया कि दिनेश उसका रिश्तेदार है. दिनेश की बेटी का राजवीर से प्रेम प्रसंग चल रहा था. दिनेश ने बेटी को आपत्तिजनक हालत में देखने पर राजवीर को मना किया था लेकिन वह नहीं माना था. जिसके बाद उसने मुझे बताया था तो फिर प्लान के तहत राजवीर को मिलने के लिए बुलाया था. वह उसे इधर-उधर घुमाता रहा और नशा भी कराया. जब मौका मिला तो उसने राजवीर के हाथ पकड़े और दिनेश ने सिर पर पीछे से गड़ासे से दो वार किए और फिर मौके से फरार हो गए. आकाश उसके बाद पंजाब भाग गया था. आकाश दिनेश का दूर के रिश्ते में चचेरा भाई है. उसने पंजाब पहुंचने पर मामा के नंबर से चौकीदार को फोन किया था.