रुद्रप्रयाग: इस वर्ष यात्रा सीजन में केदारनाथ में रोजाना 6 हजार तीर्थयात्री रात्रि विश्राम कर सकेंगे. केदारनाथ में तीर्थ पुरोहितों के भवन तैयार कर लिए गए हैं. प्रशासन जल्द ही इन भवनों को तीर्थ पुरोहितों को सौंप देगा. इससे पहले केदारनाथ में रोजाना 4500 तीर्थयात्रियों के रुकने की व्यवस्था थी.


- 6000 तीर्थयात्री रुक सकेंगे रोजाना

- 4500 तीर्थयात्रियों के लिए थी पहले व्यवस्था

- 42 नए भवन तैयार हुए केदारधाम में

- 215 कमरे हैं इन भवनों में

- 114 भवनों का किया जाना है केदारपुरी में निर्माण


जल्द ही सौंपे जाएंगे नए भवन

रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि केदारनाथ में पुनर्निर्माण के कार्य तेजी से किये जा रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी स्वयं निर्माण कार्यों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. बताया कि पिछले वर्ष 20 अक्टूबर को पीएम मोदी ने जिन पांच योजनाओं का शिलान्यास किया था, तीर्थ पुराहितों के लिए बनने वाले भवन भी उसमें शामिल थे. योजना के अनुसार कुल 114 भवनों का निर्माण किया जाना है, इनमें से 42 तैयार हो चुके हैं. इन भवनों को जल्द ही तीर्थ पुरोहितों को सौंप दिया जाएगा. इससे वे यात्रा सीजन शुरू होने से पहले यहां फर्नीचर आदि की व्यवस्था कर लें. डीएम ने बताया कि इन 42 भवनों में कुल 210 कमरे हैं. इनमें करीब 1500 लोग ठहर सकते हैं. जबकि प्री-फेब्रिकेटेड हट्स और टेंटेज आदि में 4500 लोग हॉल्ट कर सकते हैं. उन्होंने बताया कि पीक सीजन में यहां प्रतिदिन दस से 12 हजार श्रद्धालु पहुंचते हैं. इनमें से करीब सात-आठ हजार लोग यहां रात्रि विश्राम करते हैं. नए भवन तैयार होने से यहां ठहरने वाले तीर्थयात्रियों की दिक्कतें काफी हद तक कम हो जाएंगी.