क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर उत्कृष्ट रिजल्ट देनेवाले तथा अपने स्कूल को विभिन्न मानकों में बेहतर बनाने वाले शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा. जैक सभागार में आयोजित होनेवाले कार्यक्रम में सम्मान के रूप में उन्हें निर्धारित पुरस्कार राशि के अलावा मेडल व प्रशस्ति पत्र भी दिए जाएंगे. शिक्षा मंत्री नीरा यादव ने इसे लेकर विभाग के प्रधान सचिव एपी सिंह के साथ बैठक की. इसमें उन्होंने उत्कृष्ट शिक्षकों को ही सम्मानित करने पर जोर दिया.

शिक्षा की बेहतरी पर रखेंगे बात

कार्यक्रम में राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त शिक्षकों को भी बुलाया जाएगा. विगत तीन वर्षो के राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं को मंच पर पांच मिनट शिक्षा की बेहतरी पर अपनी बात रखने तथा अपना अनुभव बताने का मौका भी दिया जाएगा.

किन्हें मिलेगा पुरस्कार

लगातार तीन साल तक सौ फीसद रिजल्ट देनेवाले स्कूलों के शिक्षकों को विशिष्ट पुरस्कार प्रदान किया जाएगा. इनके अलावा विद्यालय स्वच्छता पुरस्कार में फाइव रैंक हासिल करनेवाले सभी स्कूलों के शिक्षकों तथा नए आइडिया के साथ पठन-पाठन करानेवाले शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा, बशर्ते उन्हें पूर्व में पुरस्कृत नहीं किया गया हो.

शिक्षक पुरस्कार के लिए बनेगा पोर्टल

मंत्री ने भविष्य में शिक्षक पुरस्कार के लिए केंद्र की तर्ज पर राज्य में भी ऑनलाइन आवेदन मंगाने का निर्देश दिया. इसके लिए राज्य स्तर पर पोर्टल तैयार किया जाएगा. 15 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शिक्षकों को पुरस्कृत करने के लिए उनसे ऑनलाइन आवेदन मंगाए जाएंगे. यह भी तय हुआ कि जिन शिक्षकों को डाक्यूमेंट अपडेशन की जानकारी नहीं है, उनके लिए चार सितंबर को कार्यशाला आयोजित कर जानकारी दी जाएगी.