-आरयू कर्मचारियों का दूसरे दिन भी जारी रहा क्रमिक अनशन, पुलिस सुरक्षा बढ़ाई

-यूनिवर्सिटी कर्मचारियों के समर्थन में पहुंचे बरेली कॉलेज के कर्मचारी

<द्गठ्ठद्द>

क्चन्क्त्रश्वढ्ढरुरुङ्घ :

आरयू में मिनिस्ट्रियल स्टाफ एसोसिएशन का अनिश्चितकालीन क्रमिक अनशन दूसरे दिन ट्यूजडे को भी जारी रहा. सुबह से ही अनशन पर पहुंचे कर्मचारियों ने एफओ (फाइनेंस ऑफिसर) के खिलाफ धन के दुरुपयोग के मामले में मोर्चा खोलते हुए ट्रांसफर की मांग शुरू कर दी है. हड़ताल पर बैठे आरयू कर्मचारियों ने भ्रष्टाचारी वित्त अधिकारी को हटाओ आरयू बचाओ के नारे लगाए.

समर्थन में बरेली कॉलेज के कर्मचारी

यूनिवर्सिटी में चल रही मिनिस्ट्रियल स्टाफ एसोसिएशन की अनिश्चितकालीन हड़ताल के समर्थन में दूसरे दिन बरेली कॉलेज के कर्मचारी भी आ गए. बरेली कॉलेज कर्मचारी संघ के अध्यक्ष जितेन्द्र मिश्रा के नेतृत्व में कई कर्मचारी आरयू पहुंचे और हड़ताल में समर्थन जताया. मिनिस्ट्रियल स्टाफ एसोसिएशन ने एफओ को हटाने, अटल सभागार और सिंथेटिक ट्रैक बनाने के लिए धन की व्यवस्था यूजीसी से कराए जाने की मांग की. कर्मचारियों का कहना है कि जब तक मांगें पूरी नहीं होंगी अनशन जारी रहेगा. आरयू के धन का दुरुपयोग नहीं किया जाए. वहीं हड़ताल से दूसरे दिन यूनिवर्सिटी पहुंचे स्टूडेंट्स को परेशानी उठानी पड़ी. परीक्षा नियंत्रक ने बीएलएड की काउंसलिंग कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू करा दी है.

माइग्रेशन सर्टिफिकेट न मिलने से स्टूडेंट परेशान

बीटीसी व अन्य कोर्सेस में एडमिशन के लिए आरयू से माइग्रेशन सर्टिफिकेट लेने पहुंच रहे स्टूडेंट्स को हड़ताल के चलते वापस लौटना पड़ रहा है. इसी बात पर समाजवादी छात्र सभा ने विरोध जताया और स्टूडेंट्स की समस्या दूर करने के लिए कहा. जिस पर आरयू के किसी जिम्मेदार ने संज्ञान नहीं लिया तो छात्र नेताओं ने आरयू का मेन गेट बंद कर दिया और गेट के आगे ही धरना देकर बैठ गए. सूचना मिलते ही बारादरी पुलिस मौके पर पहुंची और स्टूडेंट्स की समस्या एक घंटा में दूर करने का भरोसा देकर गेट खुलवाया.

एक घंटा रुकी रही काउंसलिंग

एक घंटा से अधिक बीतने के बाद भी जब माइग्रेशन सर्टिफिकेट लेने आने वाले स्टूडेंट्स की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो छात्र नेताओं ने बीएलएड की काउंसलिंग भी रुकवा दी. एक घंटा तक काउंसलिंग बंद रही. छात्र नेताओं ने कहा कि जब आरयू को पता था कि आरयू कर्मचारी अनिश्चितकालीन अनशन पर जा रहे है तां इसके लिए कोई व्यवस्था क्यों नहीं की, जिससे स्टूडेंट्स को समस्या न हो. अब वह जब तक काउसंलिंग नहीं होने देंगे जब स्टूडेंट्स के माइग्रेशन सर्टिफिकेट की समस्या का हल नहीं होता. क्योंकि इससे स्टूडेंट्स का एडमिशन नहीं हो पा रहा है.

काउंसलिंग रुकी तो लिखा लेटर

बीएलएड की काउंसलिंग रूकने की जानकारी पर परीक्षा नियंत्रक प्रो. एनएन पाण्डेय काउंसलिंग सेंटर पर पहुंचे और छात्र नेताओं को बताया कि उन्होंने एक पत्र आरयू की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है. जिसमें लिखा है कि आरयू कर्मचारी हड़ताल पर हैं इसीलिए डायट पर बीटीसी स्टूडेंट्स को माइग्रेशन सर्टिफिकेट के लिए परेशान नहीं किया जाए. आगामी सत्र में प्रवेश के लिए छात्रों की इंटरनेट मा‌र्क्स शीट का आरयू की वेबसाइट पर परीक्षा परिणाम से मिलान करके प्रवेश दे दें. हड़ताल खत्म होने पर माइग्रेशन देना शुरू हो जाएंगे. आरयू की वेबसाइट पर अपलोड किया गया पत्र समाजवादी छात्र सभा के गजेन्द्र कुर्मी ने सभी स्टूडेंट्स को पढ़कर सुनाया जिसके बाद कांउसलिंग शुरू हो सकी.