छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: चार सूत्री मांगों के समर्थन में पूर्वी सिंहभूम जिले के होमगार्ड सोमवार को उपायुक्त कार्यालय के समक्ष दो दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठ गए. झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले किए जा रहे आंदोलन के पहले दिन पूर्व मंत्री सह कांग्रेस नेता बन्ना गुप्ता का भी नैतिक समर्थन मिला. एसोसिएशन ने होमगार्ड जवानों की ड्यूटी सुनिश्चित करने, सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार होमगार्ड जवानों को समान कार्य का समान वेतन देने, ऑन लाइन ड्यूटी वितरण में व्याप्त फर्जीवाड़ा पर रोक लगाते हुए सभी गृह रक्षकों को एक समान ड्यूटी देने, साथ ही गिरीडीह जिला के कंपनी कमांडर नीरज कुमार पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की मांग की है. वहीं जमशेदपुर जिला समादेष्टा कार्यालय में वर्षो से प्रतिनियुक्त गृह रक्षक घासीराम बेरा और समीर कुमार को कार्यालय से हटाने, झारखंड गृह रक्षा वाहिनी मुख्यालय के अधिकारियों द्वारा भ्रष्टाचार एवं फर्जीवाड़ा के खिलाफ आवाज उठाने वाले गृहरक्षकों पर बिना जांच पड़ताल एवं स्पष्टीकरण पूछे की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाने और हटाए गए गृहरक्षकों को पुन: सेवा में लेने की भी मांग की है.

24 को सीएम आवास का घेराव

एसोसिएशन के उप महासचिव राजीव कुमार तिवारी ने बताया कि अगले दो दिन तक राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर भूख हड़ताल की जा रही है. इसके बाद 24 सितंबर को एसोसिएशन के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुशवाहा के नेतृत्व में जमशेदपुर में मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया जाएगा. मुख्यमंत्री के नाम लिखे मांग पत्र में एसोसिएशन ने ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पंजाब आदि राज्यों की तरह झारखंड में भी गृह रक्षकों को सुविधा देने की मांग की जा रही है.