कानपुर। इंग्लैंड में 30 मई से शुरु हो रहे क्रिकेट वर्ल्ड कप से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम में काफी फेरबदल हो रहे। 15 सदस्यीय वर्ल्ड कप स्काॅड में शामिल ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जाॅय रिचर्डसन चोट के चलते बाहर हो गए। जाॅय को कंधे में दर्द की शिकायत है जिसकी वजह से वह आगामी वर्ल्ड कप नहीं खेल पाएंगे। ऐसे में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने जाॅय की जगह केन रिचर्डसन को टीम में शामिल किया। बता दें केन वही तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने तीन साल पहले एक मैच में अकेले ही आधी भारतीय टीम पवेलियन भेज दी थी।

2013 में रखा था वनडे में कदम

28 साल के फाॅस्ट बाॅलर केन ने 2013 में वनडे क्रिकेट में कदम रखा था। मगर उन्हें साल 2016 में भारत के खिलाफ किए गए शानदार प्रदर्शन के लिए याद किया जाता है। तीन साल भारतीय टीम पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलने ऑस्ट्रेलिया गई थी। उस वक्त टीम के कप्तान एमएस धोनी थे। सीरीज का चौथा मैच कैनबरा में खेला गया जिसमें कंगगारुओं ने भारत के सामने जीत के लिए 349 रन का लक्ष्य दिया। एक वक्त लग रहा था भारत ये लक्ष्य आसानी से हासिल कर लेगा क्योंकि शिखर धवन और विराट कोहली ने शानदार शतक लगाया था।


अाधी भारतीय टीम भेजी पवेलियन
रन मशीन विराट कोहली भारत को जीत दिला ही रहे थे कि केन रिचर्डसन ने उन्हें 106 रन पर आउट कर पवेलियन भेज दिया। इसके बाद तो मानों रिचर्डसन ने विकेटों की झड़ी लगा दी। इस मैच में केन ने पांच विकेट चटकाए और भारत 25 रन से मैच हार गया। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज केन को वनडे खेलते छह साल हो गए। मगर उन्हें सिर्फ 20 मैचों में खेलने का मौका मिला, जिसमें केन को 29 विकेट मिले। इसमें एक बार उन्होंने पांच विकेट लिए जोकि भारत के खिलाफ लिए थे।

वर्ल्डकप टीम में नजरअंदाज किया गया ये भारतीय क्रिकेटर खेलेगा विदेशी टीम में

पाकिस्तान नहीं खिलाएगा उस गेंदबाज को, जिसने भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी थी

भारत के खिलाफ सबसे अच्छा रिकाॅर्ड
केन रिचर्डसन का भारत के खिलाफ वनडे रिकाॅर्ड हमेशा अच्छा रहा है। रिचर्डसन ने इंडिया के अगेंस्ट अब तक कुल छह मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 13 विकेट अपने नाम किए। ऐसे में वर्ल्ड कप में भारतीय बल्लेबाजों को इस गेंदबाज के खिलाफ सतर्क रहना होगा। बता दें इतने शानदार आंकड़ो के बावजूद केन ऑस्ट्रेलियाई वर्ल्ड कप टीम में पहली पसंद नहीं थे। ये तो जाॅय रिचर्डसन के चोटिल होने पर उन्हें मौका मिल गया।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk