कानपुर। टेस्ट क्रिकेट का इतिहास काफी पुराना है। इस दौरान कई ऐतिहासिक मैच खेले गए। मगर पहला टेस्ट मैच कोई नहीं भूल सकता जो 1877 में खेला गया। इंग्लिश क्रिकेट टीम उस वक्त ऑस्ट्रेलिया में थी और दोनों टीमों ने मिलकर मेलबर्न के एमसीजी मैदान पर पहला अफिशल टेस्ट खेलने का फैसला लिया। खैर इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का निर्णय लिया।

अल्फ्रेड शाॅ ने फेंकी थी पहली गेंद
कंगारू बल्लेबाज चार्ल्स बनरमैन और एम थॉम्पसन ओपनिंग करने मैदान पर आए। उधर इंग्लैंड के तेज गेंदबाज अल्फ्रेड शॉ के हाथों में गेंद थी। अल्फ्रेड के नाम टेस्ट क्रिकेट का पहला ओवर और पहली गेंद फेंकने का रिकॉर्ड दर्ज है। अल्फ्रेड ने ये गेंद बनरमैन को फेंकी थी जिनके नाम टेस्ट में पहली गेंद खेलने का भी रिकाॅर्ड है। हालांकि अल्फ्रेड कंगारु बल्लेबाज बनरमैन को आउट नहीं कर पाए।


बनरमैन ने लगाया था पहला टेस्ट शतक
अल्फ्रेड के नाम जहां पहली गेंद फेंकने का रिकाॅर्ड था वहीं बनरमैन के नाम पहला टेस्ट शतक दर्ज है। मैच की पहली गेंद खेलने वाले बनरमैन ने 165 रन बनाए। वो भी रिटायर्ड हर्ट हुए नहीं तो कोई उन्हें आउट नहीं कर पाया था।

ICC World Cup 2019 : इंग्लैंड की तरफ से 6 विदेशी खिलाड़ी खेलेंगे वर्ल्डकप फाइनल
 
ऑस्ट्रेलिया ने जीता पहला टेस्ट
ऑस्ट्रेलिया ने पहले खेलते हुए 245 रन बनाए। जवाब में इंग्लैड टीम पहली पारी में 196 रन ही बना पाई। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कुछ ज्यादा कमाल नहीं कर पाए, पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 104 रन पर ढेर हो गई। अब इंग्लैंड को जीत के लिए 154 रन चाहिए थे मगर इंग्लिश बल्लेबाज यह लक्ष्य भी नहीं पा सके। मेहमान टीम 108 रन पर सिमट गई और ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच 45 रन से जीत लिया।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk