कानपुर। क्रिकेट वर्ल्ड कप की शुरुआत 1975 में हुई थी, इसे 'प्रुडेंशियल कप' का नाम दिया गया। सीमित ओवरों का यह पहला सबसे बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट था। इसमें आठ टीमों (ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और ईस्ट अफ्रीका) ने हिस्सा लिया।

कहां हुआ था आयोजन

1975 में खेले गए पहले क्रिकेट वर्ल्ड कप का आयोजन इंग्लैंड ने किया था। टूर्नामेंट के सारे मैच इंग्लैंड के मैदानों में आयोजित किए गए। फाइनल मुकाबला लार्ड्स में खेला गया।

60-60 ओवर का था मैच

जिस वक्त पहला वर्ल्ड कप खेला गया। तब वनडे क्रिकेट 60-60 ओवर का हुआ करता था। ऐसे में विश्व कप में भी सभी टीमों के बीच 60-60 ओवर के मैच खेले गए।

दो ग्रुप में बांटा गया टीमों को
इस वर्ल्ड कप में सभी टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया। पहले ग्रुप में इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, भारत और इर्स्ट अफ्रीका की टीमें थीं। वहीं ग्रुप बी में वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और श्रीलंका को रखा गया।

कैसे तय हुईं फाइनल टीमें

ये टूर्नामेंट राउंड रोबिन और नाॅकआउट के आधार पर खेला गया। दो ग्रुप में चार-चार टीमें थीं और ग्रुप की एक टीम को बाकी तीन टीमों के साथ मैच खेलना था। ग्रुप में टाॅप 2 टीमों के बीच सेमीफाइनल खेला गया। जिसमें जीतने वाली टीमें फाइनल में भिड़ीं।


वेस्टइंडीज बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल

पहले वर्ल्ड कप का फाइनल मैच वेस्टइंडीज बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया, जिसमें कैरेबियाई टीम ने कंगारुओं को 17 रन से शिकस्त देकर पहला वर्ल्ड कप टाइटल जीता।

जीतने वाली टीम को मिले इतने रुपये
वेस्टइंडीज को वर्ल्ड कप जीतने पर करीब 3.60 लाख रुपये दिए गए। वहीं रनर अप ऑस्ट्रेलिया को 1.5 लाख रुपये मिले थे। इसके अलावा सेमीफाइनल में हारने वाली टीमों इंग्लैंड और न्यूजीलैंड को 90-90 हजार रुपये मिले। इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया को एक भी रुपये नहीं मिले क्योंकि भारतीय टीम नाॅकआउट से पहले ही बाहर हो गई थी।

किसने बनाए सबसे ज्यादा रन
1975 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज न्यूजीलैंड के ग्लेन टर्नर थे। टर्नर के बल्ले से पूरे टूर्नामेंट में 333 रन निकले। टर्नर उस वक्त सबसे बेहतरीन वनडे प्लेयर माने जाते थे। टर्नर के नाम 41 वनडे मैचों में 1598 रन दर्ज हैं। इस दौरान उनका औसत 47.00 का रहा।

कौन बना हाईएस्ट विकेट टेकर
ऑस्ट्रेलिया के लिए मात्र 5 वनडे खेलने वाले गैरी गिलमर पहले वर्ल्ड कप में हाईएस्ट विकेट टेकर बने। गैरी ने इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 11 विकेट चटकाए।

सिर्फ एक मैच जीत पाया भारत
पहले वर्ल्ड कप में भारतीय क्रिकेट टीम की कमान एस वेंकटराघवन ने संभाली थी। भारत को इस विश्व कप में तीन मैच खेलने को मिले जिसमें दो में हार मिली और एक में जीत। भारत ने इकलौता मैच ईस्ट अफ्रीका के खिलाफ 10 विकेट से जीता था। जिसमें फारुख इंजीनियर को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसी के साथ फारुख किसी वर्ल्ड कप में पहला मैन ऑफ द मैच जीतने वाले भारतीय खिलाड़ी बने।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk