कानपुर। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 के 24वें मैच में इंग्लैंड ने अफगानिस्तान को 150 रनों से हरा दिया। इंग्लैंड ने पहले खेलते हुए 397 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया। जवाब में अफगान टीम 247 रन ही बना पाई, अफगानिस्तान की तरफ से सबसे ज्यादा 76 रन हशमतुल्लाह शाहिदी ने बनाए। शाहिदी की ये पारी उनकी दिलेरी को लेकर भी चर्चा में रही। दरअसल अर्घशतक लगाने से पहले इंग्लिश गेंदबाज मार्क वुड की एक बाउंसर शाहिदी के सिर पर आकर लगी, जिसके बाद वह जमीन पर लेट गए। हशमतुल्लाह के गिरते ही पूरी इंग्लिश टीम उनके पास आ गई। आनन-फानन फिजियो और डाॅक्टर्स को मैदान में बुलाया गया।
icc world cup 2019 : मां के लिए सिर पर बाउंसर लगने के बावजूद खेलता रहा अफगानी
मां को नहीं करना चाहता था परेशान

डाॅक्टर्स ने जांच-पड़ताल करने के बाद शाहिदी को मैदान छोड़ने के लिए कह दिया। मगर हशमतुल्लाह ने किसी की एक न सुनी और बल्लेबाजी करते रहे। मैच खत्म होने के बाद शाहिदी ने बल्लेबाजी करने के पीछे के रहस्य से पर्दा उठाया। शाहिदी ने बताया कि उन्होंने अपनी मां की वजह से मैदान नहीं छोड़ा। 'मेरी मां मेरे बारे में ज्यादा सोचती हैं। पिछले साल मैंने अपने पिता को खो दिया और अब मैं उन्हें अपनी वजह से दुखी नहीं देखना चाहता। मैंने खेल जारी रखा और दोबारा इसलिए खड़ा हुआ ताकि मेरी मां चिंतित न हों।'
icc world cup 2019 : मां के लिए सिर पर बाउंसर लगने के बावजूद खेलता रहा अफगानी

ICC World Cup 2019 : सिर्फ छक्कों से 100 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने मोर्गन

ICC World cup 2019 : कौन खिलाड़ी बना रहा चौके-छक्के से सबसे ज्यादा रन

भाई स्टेडियम में था मौजूद
शाहिदी आगे कहते हैं, 'मेरा पूरा परिवार मैच देख रहा था। यहां तक कि मेरा बड़ा भाई स्टेडियम में भी मौजूद था। ऐसे में अगर मैं मैदान छोड़कर चला जाता तो सब परेशान हो जाते।' यही नहीं शाहिदी का ये भी मानना है कि उस वक्त टीम को उनकी काफी जरूरत थी। इसलिए वह क्रीज पर डटे रहे।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk