कानपुर। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 का फाइनल मुकाबला लाॅर्ड्स में इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड के बीच खेला जा रहा। इस मैच में आईसीसी ने माॅरिस इरेसमस और कुमार धर्मसेना को ऑन फील्ड अंपायर बनाया है। बता दें कुमार धर्मसेना वर्ल्डकप फाइनल में अंपायरिंग करने और बतौर प्लेयर फाइनल खेलने वाले इकलौते शख्स हैं। धर्मसेना पूर्व श्रीलंकाई क्रिकेटर हैं जो 1996 विश्वकप विजेता श्रीलंका टीम के मुख्य सदस्य थे।

ऑस्ट्रेलिया को हराया था फाइनल में

फाइनल में श्रीलंका का सामना ऑस्ट्रेलिया से हुआ। कंगारुओं ने पहले खेलते हुए सात विकेट के नुकसान पर 241 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका ने तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया और सात विकेट से मैच जीता। श्रीलंका की इस जीत के हीरो अरविंद डी सिल्वा थे जिन्होंने मैच में शानदार शतक तो लगाया, साथ ही तीन विकेट भी झटके थे। इसी के साथ श्रीलंका का विश्व कप जीतने का सपना भी पूरा हुआ। धर्मसेना की इस मैच में बैटिंग तो नहीं आई मगर गेंदबाजी करते हुए उन्होंने एक विकेट अपने नाम किया था।

सेमीफाइनल में गलत आउट देने पर विवादों में रहे
कुमार धर्मसेना को वर्ल्डकप फाइनल में अंपायर बनाने से कई क्रिकेट फैंस खुश नहीं हैं। दरअसल धर्मसेना ने ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लिश बल्लेबाज जेसन राॅय को गलत आउट दिया था।वो घटना इंग्लैंड की पारी के 19वें ओवर में घटित हुई। उस वक्त जेसन 85 रन पर खेल रहे थे तभी पैट कमिंस की एक गेंद पर वह पुल शाॅट लगाने निकले, मगर गेंद उनके बल्ले या दस्ताने को न छूते हुए विकेटकीपर के हाथों में चली गई। कंगारु खिलाड़ियों को लगा कि गेंद जेसन के दस्तानों में लगी है और उन्होंने आउट की अपील की। अंपायर कुमार धर्मसेना ने भी अपनी उंगली खड़ी कर दी हालांकि रिप्ले में साफ देखा गया था कि गेंद का किसी तरह का कोई संपर्क नहीं हुआ। जेसन राॅय इस फैसले से सहमत नहीं हुए और मैदान पर ही नाराजगी जताने लगे। आखिर में उन्हें की्रज छोड़नी ही पड़ी।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk