कानपुर। क्रिकेट इतिहास का सबसे चर्चित वर्ल्ड कप साल 1999 में खेला गया था। ये वो विश्व कप था जो सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा। इस विश्व कप में वो सबकुछ हुअा जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। दो टीमें जो फाइनल की रेस में दौड़ रही थी। इनके बीच कड़ी जंग देखी गई। इस मुकाबले में एक कैच ने दोनों टीमों की किस्मत बदल दी।

पांच देशों ने मिलकर किया था आयोजन
1999 वर्ल्ड कप का आयोजन पांच देशों इंग्लैंड, स्काॅटलैंड, आयरलैंड, नीदरलैंड और वेल्स ने मिलकर किया था। इस विश्व कप में 12 देशों ने हिस्सा लिया। इसमें नौ तो चर्चित टीम थी जबकि तीन टीमों बांग्लादेश, स्काॅटलैंड और केन्या शामिल थीं। सभी टीमों को 6-6 के दो ग्रुपों में बांटा गया। ग्रुप चरण के शुरुआती मैच तो अच्छे से हुए मगर आखिर में एक मैच ऐसा खेला गया जिसने इतिहास बदल दिया।
icc world cup 2019 : 1999 वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका ने कैच ही नहीं टपका दिया था वर्ल्डकप
जब अफ्रीकी खिलाड़ी ने कैच नहीं वर्ल्ड कप छोड़ा
12 टीमों के बीच ग्रुप मैच होने के बाद छह टीमें सुपर सिक्स में पहुंची। इसमें पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, न्यूजीलैंड, जिंबाब्वे और भारत की टीमें शामिल थी। इनमें प्रत्येक टीम को एक-दूसरे के खिलाफ मैच खेलना था। वैसे तो बाकी मैच सामान्य रहे मगर साउथ अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच 12 जून 1999 को खेला गया मैच कभी नहीं भुलाया जा सकता। इस मैच में अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को जीतने के लिए 272 रन का टारगेट दिया। कंगारुओं के लिए ये लक्ष्य आसान न था। ऑस्ट्रेलियाई टीम के सबसे धुरंधर बल्लेबाज स्टीव वाॅ ने टीम को जीत दिलाने की पूरी कोशिश की, मगर अभी क्रीज पर आए उन्हें ज्यादा वक्त भी नहीं हुआ कि उनका कैच मिड-विकेट पर खड़े अफ्रीकी प्लेयर हर्शल गिब्स ने छोड़ दिया। जिसके बाद वाॅ ने कहा, गिब्स तुमने कैच नहीं वर्ल्ड कप ड्राॅप किया है।

वाॅ ने फिर नाबाद 120 रन की पारी खेली
कैच छूटने के बाद स्टीव वाॅ ने संभलकर खेलते हुए पारी को आगे संभाला और नाबाद 120 रन ठोंककर टीम को पांच विकेट से जीत दिलाई। इस जीत का फायदा कंगारुओं को सेमीफाइनल मैच में मिला। जहां कंगारुओं की टक्कर फिर से साउथ अफ्रीका से हुई। मगर वो मैच टाई हो गया, बाद में ऑस्ट्रेलिया को सुपर स्टेज में अफ्रीका से ज्यादा रन रेट होने के चक्कर में फाइनल का टिकट मिल गया।


सात विकेट से जीता फाइनल मुकाबला

फाइनल में ऑस्ट्रेलिया का सामना पाकिस्तान से हुआ। पाकिस्तान ने पहले खेलते हुए 139 रन बनाए। जवाब में कंगारुओं ने दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया और आठ विकेट से मैच जीता। ऑस्ट्रेलिया की इस जीत के हीरो एडम गिलक्रिस्ट और शेन वार्न रहे। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया के खाते में दूसरा विश्व कप आ गया।

किसने बनाए सबसे ज्यादा रन
1999 वर्ल्ड कप भले ऑस्ट्रेलिया टीम के नाम रहा हो मगर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज राहुल द्रविड़ थे। द्रविड़ के बल्ले से पूरे टूर्नामेंट में 461 रन निकले।

ICC World Cup 2019 : जख्मी पैर के साथ वर्ल्ड कप खेलने उतरा था ये भारतीय गेंदबाज, चटकाए 6 विकेट


ICC World Cup 2019 : 1996 वर्ल्डकप में इंडिया को हारता देख फैंस ने कुर्सियों में लगा दी थी आग

कौन बना हाईएस्ट विकेट टेकर
टूर्नामेंट के हाईएस्ट विकेट टेकर की बात करें तो यहां पहला नाम न्यूजीलैंड खिलाड़ी का आता है। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जेफ एलाॅट ने सातवें वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 20 विकेट चटकाए।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk