कानपुर। 30 मई से इंग्लैंड में शुरु होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप को लेकर भारतीय टीम का एलान हो गया। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को वर्ल्ड खेलने वाले 15 खिलाड़ियों के नाम बताए, जिसमें दूसरे विकेटकीपर की दौड़ में दिनेश कार्तिक ने बाजी मारी और रिषभ पंत पीछे छूट गए। टीम में विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, केदार जाधव, कुलदीप यादव, हार्दिक पांड्या, रोहित शर्मा (उप कप्तान), विजय शंकर, दिनेश कार्तिक, भुवनेश्वर कुमार, रवींद्र जडेजा, शिखर धवन, एमएस धोनी (विकेटकीपर), युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी हैं। इनमें आठ पहली बार खेलेंगे।

केएल राहुल

भारत के दाएं हाथ के ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल को वर्ल्ड कप खेलने वाली 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है। 26 साल के केएल राहुल का यह पहला वर्ल्ड कप है। पिछला वर्ल्ड कप 2015 में खेला गया था तब तक राहुल ने वनडे में कदम नहीं रखा था। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, राहुल ने साल 2016 में जिंबाब्वे के अगेंस्ट वनडे डेब्यू किया था। हालांकि वह दो साल पहले ही टेस्ट खेल चुके थे मगर सीमित ओवरों के खेल में उन्हें आने में थोड़ा वक्त लगा। खैर पिछले कुछ सालों में राहुल बेहतर खेल दिखाते आए हैं जिसकी वजह से उन्हें वर्ल्ड कप टीम में जगह मिली। राहुल ने 14 वनडे खेलकर 34.30 की एवरेज से 343 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं।

केदार जाधव

34 साल के मध्यक्रम बल्लेबाज केदार जाधव का भी यह पहला वर्ल्ड कप होगा। दाएं हाथ के बल्लेबाज जाधव ने भारतीय क्रिकेट टीम में काफी देर में इंट्री ली थी। यही वजह है कि उन्हें पिछले वर्ल्ड कप में खेलने का मौका नहीं मिल पाया। जाधव ने साल 2014 में रांची में श्रीलंका के खिलाफ पहला वनडे खेला था हालांकि फिर अगले साल हुए 2015 वर्ल्ड कप में उन्हें टीम में इसलिए जगह नहीं मिल पाई क्योंकि उन्होंने वर्ल्ड कप से पहले सिर्फ तीन मैच खेले थे। इस समय जाधव 43.48 की औसत से वनडे में रन बना रहे। वर्ल्ड कप में वह भारतीय टीम के काफी उपयोगी खिलाड़ी बन सकते हैं।

कुलदीप यादव

भारत के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव भी पहली बार वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बने हैं। 24 साल के होनहार खिलाड़ी कुलदीप ने 2017 में टीम इंडिया में इंट्री मारी थी और पिछले दो साल में वह भारत के प्रमुख स्पिनर बन गए हैं। यादव ने अब तक 44 वनडे खेेले हैं जिसमें उन्होंने 87 विकेट चटकाए। इसमें चार बार 4 विकेट और एक बार 5 विकेट लेने का कारनामा किया है। यही नहीं कुलदीप के नाम वनडे में एक हैट्रिक भी दर्ज है। यादव ने ये रिकाॅर्ड ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था।

हार्दिक पांड्या
कुंग-फू नाम से मशहूर हार्दिक पांड्या भी वर्ल्ड कप में पहली बार दिखाई देंगे। पांड्या टीम इंडिया के उपयोगी ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं। वह सिर्फ बल्ले से नहीं गेंद से भी खूब कमाल करते हैं। 25 साल के हार्दिक ने साल 2016 में न्यूजीलैंड के अगेंस्ट वनडे क्रिकेट में कदम रखा था। तब से लेकर अब तक वह भारत के लिए 45 वनडे खेल चुके हैं। जिसमें उन्होंने 29.24 की औसत से 731 रन बनाए हैं वहीं 44 विकेट भी अपने नाम कर चुके हैं। वनडे क्रिकेट में पांड्या ने कोई शतक तो नहीं लगाया मगर चार हाॅफसेंचुरी जरूर जड़ चुके हैं। मौजूदा समय में पांड्या आईपीएल में जैसी तूफानी बैटिंग कर रहे हैं, उससे लगता है कि वह वर्ल्डकप में गेंदबाजों पर जमकर बरसेंगे।

विजय शंकर

तीन महीने पहले वनडे क्रिकेट में कदम रखने वाले विजय शंकर को इतनी जल्दी वर्ल्ड कप टीम में जगह मिल जाएगी, यह किसी ने नहीं सोचा था। शंकर को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया में जगह मिली है। भारतीय बल्लेबाजी क्रम में चौथे नंबर का स्थान काफी समय से खाली था। ऐसे में सलेक्टर ने विजय शंकर पर भरोसा जताते हुए उन्हें चौथे नंबर के लिए चुना है। शंकर अच्छी बैटिंग, बाॅलिंग के अलावा शानदार फील्डिंग भी करते हैं। अभी तक शंकर के नाम 9 वनडे मैचों में 165 रन और 2 विकेट दर्ज हैं।

दिनेश कार्तिक
एमएस धोनी से पहले भारतीय टीम में आए विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक आखिरकार वर्ल्डकप टीम में शामिल हो गए। कार्तिक ने साल 2004 में ही वनडे डेब्यू कर लिया था। इन सालों में टीम इंडिया ने तीन वर्ल्ड कप खेले मगर कार्तिक उस टीम का हिस्सा नहीं बने। ऐसे में अब करियर के अंतिम पड़ाव पर दिनेश को वर्ल्ड कप टीम में जगह मिल गई। कार्तिक के पास 15 साल का अनुभव है और वह इस वर्ल्ड कप टीम के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकते हैं।

युजवेंद्र चहल
कुलदीप यादव के साथ भारतीय स्पिन आक्रमण की जिम्मेदारी संभाल रहे युजवेंद्र चहल का भी पहला वर्ल्ड कप होगा। चहल ने साल 2016 में पहला वनडे मैच खेला था और पिछले तीन सालों में वह अपनी फिरकी के दम पर भारत को कई मैच जितवा चुके हैं। चहल के नाम 41 वनडे मैचों में 72 विकेट दर्ज हैं। इस दौरान उन्होंने दो बार पांच विकेट लेने का कारनामा भी किया।

वर्ल्डकप टीम चुनने वाले MSK Prasad खुद रहे हैं सबसे खराब बल्लेबाज

वर्ल्डकप में खेलेंगे ये 15 भारतीय खिलाड़ी, टीम का हुआ एलान

जसप्रीत बुमराह

टीम इंडिया के याॅर्कर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह मौजूदा समय में भारतीय टीम के सबसे खतरनाक गेंदबाज हैं। बुमराह को डेथ ओवर्स स्पेशलिस्ट कहा जाता है। बुमराह का भी यह पहला वर्ल्ड कप होगा। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज बुमराह ने साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे क्रिकेट में कदम रखा था। वह अभी तक 49 वनडे खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 85 विकेट चटकाए हैं।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk