ड्यूटी से नदारद रहने वाले पुलिसकर्मियों के लिए एसएसपी ने उठाया कदम

अभी तक ड्यूटी से नदारद होने पर कटता था वेतन, अब होगा मुकदमा

Meerut. ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों अब कठोर कार्रवाई की जाएगी. एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के लिए गुरुवार को सख्त निर्देश जारी किए. एसएसपी के निर्देशानुसार अगर किसी पुलिसकर्मी ने अपनी हाजिरी में खेल किया तो उसे जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है.

हाजिरी लगाकर गायब

एसएसपी का कहना है कि कई बार देखने में आया है कि पुलिसकर्मी अपनी हाजिरी लगाकर घर चले जाते हैं. दरअसल, रिठानी गांव में हुई जातीय हिंसा के बाद करीब 150 पुलिसकर्मियों की वहां ड्यूटी लगाई गई थी. इसी बीच एसएसपी ने वहां का औचक निरीक्षण कर ड्यूटी रजिस्टर चेक किया. जिसमें पता लगा कि आधे से ज्यादा पुलिसकर्मी अपनी अपनी हाजिरी लगाकर ड्यूटी से गायब थे. जिसके बाद एसएसपी ने ऐसे सभी पुलिसकर्मियों की गैरहाजिरी लगवा दी थी.

दर्ज होगा मुकदमा

इस घटना के बाद भी पुलिसकर्मियों ने हाजिरी लगाकर ड्यूटी से गायब होना नहीं छोड़ा. कई पुलिस चौकियों के निरीक्षण के बाद भी कई पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी से नदारद मिले. जिसके चलते एसएसपी ने सख्त कदम उठाते हुए यह निर्देश दिया कि अगर कोई पुलिसकर्मी हाजिरी लगाकर अपनी ड्यूटी से गायब मिलता है तो उसके खिलाफ सीधे मुकदमा दर्ज उसे जेल भेजा जाएगा.

एसएसपी ऑफिस का बुरा हाल

कहने को तो एसएसपी ऑफिस में 25 महिला और 70 पुरुष पुलिसकर्मियों का स्टाफ तैनात है. जिनकी ड्यूटी का टाइम सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक है. दरअसल, होता ये है कि अधिकतर पुलिसकर्मी सुबह साढ़े दस बजे आते है और दोपहर डेढ़ या दो बजे एसएसपी के ऑफिस से जाने के बाद गायब हो जाते हैं. यही नहीं जिस दिन एसएसपी ऑफिस में नहीं आते उस दिन वहां सन्नाटा पसरा रहता है. फरियादी भी इंतजार करके वापस लौट जाते हैं.

बायोमेट्रिक मशीन गायब

एसएसपी ऑफिस में कर्मचारियों की हाजिरी लगाने के लिए तत्कालीन एसएसपी रविंद्र गौड़ ने बायोमेट्रिक मशीन लगाई थी. जिससे सभी पुलिसकर्मियों की हाजिरी दर्ज की जाती थी. एसएसपी रविंद्र गौड़ के ट्रांसफर के बाद से ही बायोमेट्रिक मशीन भी अपनी जगह से गायब है.