- केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा बसपा चाहती है मजबूर, भाजपा चाहती मजबूत सरकार

- पूर्ण बहुमत नहीं होने के कारण अटल बिहारी जो चाहते थे नहीं कर पाए, पीएम मोदी ने बहुत कुछ किया

आगरा। केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि आतंकवाद सबसे बड़ा मुद्दा है, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आतंकवाद को मुद्दा नहीं मानते हैं। बावजूद इसके एसपीजी सुरक्षा में चलते हैं। उन्होंने कहा कि देशद्रोह आतंकवाद नहीं है तो बुलेटप्रूफ गाड़ी में घूमना क्यों नहीं छोड़ देते हैं। इसके साथ ही सुरक्षा भी लौटा दें। वे यहीं पर नहीं रुकीं, उन्होंने गठबंधन पर भी हमला बोला। राहुल गांधी के साथ साथ गठबंधन नेताओं के बारे में कहा कि उन्हें देश की नब्ज ही नहीं पता है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सब जानते हैं।

मजबूर सरकार चाहती हैं मायावती

सींगना स्थित आगरा ट्रेड सेंटर में विजय संकल्प साइबर योद्धा कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती मजबूर सरकार चाहती हैं, जबकि भाजपा मजबूत सरकार। उन्होंने कहा कि पूर्ण बहुमत की सरकार ही कड़े निर्णय ले सकती है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी गठबंधन के चलते कई कार्य नहीं कर पाए, जो वे करना चाहते थे। पीएम मोदी को पूर्ण बहुमत मिला और उन्होंने बहुत कुछ कर दिखाया। भाजपा राजनीतिक अस्थिरता, लोक कल्याण, राष्ट्रीय सुरक्षा, देश का विकास आदि मुद्दों पर वोट मांग रही है।

17 देशों ने जताई थी संवेदना

पुलवामा घटना के बाद 17 देशों के विदेश मंत्रियों के फोन आए। उन्होंने संवेदना और समर्थन जताया। साथ ही पूछा कि कुछ प्लान कर रहे हैं क्या, तो हमने स्पष्ट कर दिया कि अगर पाकिस्तान उकसाएगा तो हम चुप नहीं बैठेंगे। समर्थन देने वालों में कई इस्लामिक राष्ट्र भी थे।

विवादित बयानों से बचें

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा के साइबर योद्धा पर सकारात्मक कहने को बहुत कुछ है। इसलिए विवादित बयानों से बचें। सही तथ्य और प्रबल तर्क के साथ सोशल मीडिया पर अपनी बात रखें। लोगों से पूछें कि ओसामा को ओसामा जी कहने वाले वोट के हकदार हैं।

मुझे माफ कर दो

केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज कार्यक्रम स्थल पर पांच घंटे देरी से पहुंची। उन्होंने हाथ जोड़कर क्षमा मांगी। कहा कि घोषणा पत्र जारी करने के कार्यक्रम और जाम के कारण आने में देर हुई।