- चौधरी चरण सिंह इंटरनेशल एयरपोर्ट का मामला

- लखनऊ से बंगलुरु जा रहे थे सर्जन डॉ. सौरभ राय

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: हवाई सफर कर रहे पैसेंजर के साथ इंडिगो एयरलाइंस के विमान में बदसलूकी का सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोप है कि सिक्योरिटी ऑफिसर्स और इंडिगो एयरलाइंस के कर्मियों ने पैसेंजर से धक्का मुक्की करते हुए उसे 'आतंकी' बता पुलिस को सौंपने की धमकी दी और प्लेन से उतार दिया. जिसके बाद पैसेंजर को दूसरी फ्लाइट का टिकट खरीदकर बंगलुरु जाना पड़ा.

बंगलुरु जा रहा था पैसेंजर

बंगलुरु के नारायणा हृदयालय में वैस्कुलर सर्जन डॉ. सौरभ राय ने चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट लखनऊ से बंगलुरु जाने के लिए फ्लाइट संख्या 6ई 541 में टिकल लिया था. डॉ. सौरभ ने बताया कि वह फ्लाइट में गए तो वहां मच्छर बहुत अधिक थे. फ्लाइट में बच्चे, बूढ़े भी थे. कई पैसेंजर के साथ उन्होंने क्रू मेंबर्स से फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत दर्ज कराई.

..तो हिंदुस्तान छोड़ जाइये

डॉ. सौरभ राय ने बताया कि जब वह प्लेन का डोर बंद कर रहे थे तो हम लोगों ने ऑब्जेक्शन किया और मच्छरों का कोई उपाय करने को कहा. मेरी आपत्ति बस इतनी थी कि किसी पैसेंजर को मलेरिया, डेंगू हो जाएं तो कौन जिम्मेदार होगा. मुझसे कहा गया कि लखनऊ में मच्छर होना आम बात है, आपको दिक्कत है तो हिंदुस्तान छोड़कर चले जाइये. ऑब्जेक्शन करने पर उन्होंने ग्राउंड फोर्स सिक्योरिटी को बुलाकर सामान निकाल कर मुझे नीचे उतार दिया. सिक्योरिटी ने उनसे धक्का-मुक्की भी की. डॉ. सौरभ ने बताया कि कुछ देर एयर हॉस्टेस से बात करने के बाद सिक्योरिटी ऑफिसर्स ने कहा कि माफीनामा लिखकर दीजिए. मैंने कहा कि माफीनामा किस बात का. इस पर सिक्योरिटी ऑफिसर ने कहा कि डिले हो गया है और बहुत से एक्सप्लेनेशन देने पड़ते हैं. जिस पर डॉ. सौरभ ने कहा कि जो सुविधाएं जरूरी हैं वह नहीं दी जा रही है. मुझे ऐसे हैंडल किया कि जैसे मैं टेरेरिस्ट हूं. मुझसे कहा गया कि मैं हाइजैकिंग का डर फैला रहा हूं. मैंने लिखित देने से मना कर दिया, जिस पर मुझे उस फ्लाइट से जाने नहीं दिया गया.

उलटा पैसेंजर को डराया-धमकाया

डॉक्ट सौरभ ने बताया कि लिखित माफीनामा देने से मना करने के बाद सिक्योरिटी ने कहा कि आपको दूसरी फ्लाइट से भेजने की व्यवस्था करा दी जाएगी और सीनियर ऑफिसर से मुलाकात कराई जाएगी. इसके बाद इंडिगो के मेन अधिकारी से बात हुई तो उन्होंने भी कहा कि मेरा अनएक्सप्टेबल बिहेवियर है. सिक्योरिटी ने दूसरी फ्लाइट से भेजने को कहा था इस पर कहा कि काउंटर से दूसरा टिकट लेकर चले जाइये. हम आपको पुलिस में नहीं दे रहे हैं यही बहुत बड़ी बात है.

जबरन डिलीट किए फोटो

डॉ. सौरभ ने बताया कि उनसे हाथापाई की कोशिश की गई तो उन्होंने वहां की तस्वीरें ले ली थी, लेकिन मेरा फोन छीनकर जबरन फोटो डिलीट किए गए. उसके बाद ही सिक्योरिटी ने छोड़ा. उन्होंने बताया कि बंगलुरु में मेरे तीन ऑपरेशन लगे हैं. इसलिए जाना जरूरी था. इसके कारण दोपहर 12.35 बजे की फ्लाइट से 16,000 का दूसरा टिकट बुक किया. कंपनी ने इसके लिए कोई कम्पेनशेट नहीं किया. डॉ. सौरभ राय मूलत: इलाहाबाद के रहने वाले हैं और गैस्ट्रोसर्जन हैं. वह 20 साल से इंग्लैंड में थे और 2015 से नारायणा हृदयालय में हैं. अभी हाल ही में उन्होंने नि:शुल्क हमीरपुर में मरीजों के लिए कैंप लगाया था.

इंडिगो का जवाब

सौरभ राय को मच्छरों की शिकायत के कारण नहीं, बल्कि उनके आक्रामक रवैये के चलते सिक्योरटी रीजन से उतारा गया. इसके लिए सेफ्टी प्रोटोकॉल का पालन किया गया. एनजीटी ने पैसेंजर्स प्लेन में कीटाणुनाशक छिड़काव पर रोक लगाई है जिसके कारण फ्लाइट को डिसइनफेक्ट नहीं किया जा सकता.

- साक्षी बत्रा, इंडिगो

डॉ. सौरभ राय के इप सवालों का जवाब नहीं

1. मैंने किसी भी अभद्र भाषा का प्रयोग नहीं किया.

2. इंडिगो के सिक्योरिटी ऑफिसर्स ने मोबाइल से जबरन फोटो डिलीट क्यों की गई?

3. इंडियो ग्राउंड सिक्योरिटी स्टाफ शैलेंद्र की अगुवाई में मेरे साथ हाथापाई की गई. मुझे बाद में किसी क्रू या सीनियर अधिकारी कोई एक्सप्लेनेशन नहीं दिया.

4. मुझे इंडिगो की एयर होस्टेस सोनाली ने धमकी दी और कहा कि मैं दिक्कत के लिए ही बना हूं.

5. यदि स्प्रे की रोक है तो रेप्लेंट क्रीम क्यों नहीं दी गई. मैंने सिर्फ उसी के लिए कहा था स्प्रे के लिए नहीं.

6. यदि मैंने हाईजैक करने की कोशिश की या दूसरे पैसेंजर्स के लिए खतरा था तो दूसरी इंडिगो की फ्लाइट 6ई339 से जाने की अनुमति कैसे दी गई?