नेता बनने, सही आचरण और नियमों के सिखाए जाएंगे गुर
कैबिनेट की 18 फैसलों पर मुहर, पर्यटन नीति का विस्तार
व्यापारियों को जीएसटी के नियमों में सरकार ने दी राहत

 पॉलिटिकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट
51213 वर्ग मीटर भूमि पर इंस्टीट्यूट का निर्माण
198 करोड़ रुपये खर्च पहले पहले चरण में
50 करोड़ की व्यवस्था अनुपूरक बजट में पहले से

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में बुधवार को कैबिनेट ने प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी। इसमें राजनीति में आने के इच्छुक युवाओं को बाकायदा टे्रनिंग दी जाएगी, जनप्रतिनिधियों को अच्छा आचरण करने, नियमों और शासनादेशों की गहन जानकारी उपलब्ध कराने के साथ यह भी सिखाया जाएगा कि किस तरह वे रोजाना सामने आने वाली व्यवहारिक दिक्कतों से निपट सकते हैं। खास बात यह है कि इसे दिल्ली के नजदीक गाजियाबाद में इस उद्देश्य से बनाया जा रहा है ताकि अलग-अलग देशों के अंबेसडर, राष्ट्राध्यक्ष और प्रधानमंत्री बतौर विजिटिंग प्रोफेसर यहां आकर अपने अनुभव साझा करेंगे।

डिप्लोमा और डिग्री कोर्स होगा शुरू
नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि इसका निर्माण 51,213 वर्ग मीटर भूमि पर किया जाएगा। पहले पहले चरण में करीब 198 करोड़ रुपये व्यय होंगे जिसके लिए अनुपूरक बजट में 50 करोड़ की व्यवस्था पहले से की जा चुकी है। इसमें इंटर्न को भी पढऩे का मौका मिलेगा। दरअसल, इस तरह के कोर्स का सूबे के विश्वविद्यालय, महाविद्यालय और संस्थाओं में अभाव है। इंस्टीट्यूट बनने पर यहां पढऩे वाले स्टूडेंट्स के साथ एक्सपट्र्स राजनीति के हर पहलू के बारे में अपने अनुभव शेयर करने आएंगे। इसकी मान्यता और कोर्स के लिए देश-विदेश की नामचीन यूनिवर्सिटीज से संपर्क साधा जा रहा है जो यहां पढऩे वालों को डिप्लोमा और डिग्री प्रदान करेंगे। यह इंस्टीट्यूट नगर विकास विभाग के अधीन होगा। दो साल के भीतर पहले चरण का निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इंस्टीट्यूट में दाखिला लेने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता और कोर्स निर्धारण के लिए एक उच्चस्तरीय कमेटी का गठन भी किया जाएगा।

वेस्ट प्लास्टिक से बनेगा डीजल, यूपी में यहां लगेगा प्लांट

कुंभ : 922 करोड़ रुपये होंगे खर्च, श्रद्धालुआें के लिए बनेंगे फाइबर के शौचालय

National News inextlive from India News Desk