JAMSHEDPUR: लौहनगरी के हजारों स्टूडेंट्स ने गुरुवार को अपने इंटेलिजेंस के लेवल को परखा. बच्चों ने जाना कि उनमें किस फील्ड में करियर बनाने की कैपेसिटी है. अवसर था इंडियन इंटेलिजेंस टेस्ट यानी आईआईटी सीजन-6 का. 'दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट' के तत्वावधान में आयोजित इस परीक्षा में सिटी के कई सेंटर्स पर पूरे उत्साह के साथ स्टूडेंट्स शामिल हुए. नॉलेज पार्टनर पीएसआईटी, कानपुर के साथ इस टेस्ट को कंडक्ट कराया गया. अधिकतर स्टूडेंट्स ने एग्जाम के निर्धारित समय 80 मिनट से पहले ही अपना पेपर फिनिश किया.

सिलेबस से सवाल, खिले चेहरे

आईआईटी सीजन-6 के तहत टेस्ट में सवालों को दो सेक्शन में बांटा गया था. पहला सेक्शन मल्टिपल इंटेलिजेंस का था, जिसके तहत 40 सवाल पूछे गये थे. इसके लिए 20 मिनट का वक्त दिया गया था. दूसरा सेक्शन जेनरल नॉलेज, मैथेमेटिकल एप्टीट्यूड, इंग्लिश और लॉजिकल रीजनिंग से जुड़ा था, जिसके तहत 60 सवाल पूछे गये. इस सेक्शन के लिए 60 मिनट का समय निर्धारित था. अधिकतर स्टूडेंट्स ने निर्धारित समय सीमा से पहले ही सभी सवालों को हल कर लिया. वैसे दसवीं और बारहवीं के स्टूडेंट्स को मैथमेटिक्स और साइंस सजेक्ट्स के सवालों को हल करने में थोड़ा ज्यादा समय लगा.

एक्साइटमेंट भी और बेचैनी भी

आईआईटी में क्लास 5, 6 और 7 के बच्चों में भी पूरा एक्साइटमेंट देखा गया. वे ओएमआर शीट में पहली बार परीक्षा दे रहे थे. उन्हें आगे भी इस तरह की परीक्षाएं फेस करनी हैं. इस लिहाज से आईआईटी उनके लिए एक रोडमैप बन गया. बच्चों ने एग्जाम शुरू होने से पहले ही टीचर्स से ओएमआर भरने की प्रोसेस जान ली. इसके बाद उन्हें टेस्ट देने में कोई परेशानी नहीं हुई.

इनका रहा सहयोग

शहर में गरीब और रजिस्ट्रेशन की फीस न दे पाने वाले छात्र-छात्राओं को इंडियन इंटेलीजेंस टेस्ट परीक्षा में शामिल करवाने के लिए गहरिया स्थित आरका जैन यूनीवर्सिटी के डायरेक्टर अमित श्रीवास्तव ने 150 बच्चों का रजिस्ट्रेशन करवाया. वहीं जुगसलाई विधानसा क्षेत्र के विधायक रामचंद्र सहिस ने 60 बच्चों को रजिस्ट्रेशन फीस देने में सहयोग किया.

इन केंद्रों में हुई परीक्षा

विग इंग्लिश स्कूल, छोटा गोविंदपुर

राजकीयकृत बालिका विद्यालय, साकची

टाटा वर्कर यूनियन स्कूल, कदमा

पीपुल्स हाईयर सेकेंडरी स्कूल, बाराद्वारी

एसएस प्लस 2 हाईस्कूल, पटमदा