एमडीए ने पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के साथ की कार्रवाई

लोगों ने किया विरोध, कार्रवाई रोकने की कोशिश

Meerut. अब्दुल्लापुर में एमडीए के प्रवर्तन दल ने 25 वीघा में फैली अवैध कॉलोनी को ध्वस्त कर दिया. करीब चार घंटे चली कार्रवाई के दौरान लोगों ने विरोध भी किया. एमडीए सचिव राजकुमार ने बताया कि पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में करीब 25 वीघा में बसी अवैध कॉलोनी को ध्वस्त कर दिया गया है. अवैध निर्माणों के खिलाफ प्राधिकरण का अभियान जारी रहेगा.

दलबल के साथ पहुंचे अफसर

मंगलवार सुबह तहसीलदार सदर संतोष कुमार, एमडीए के तहसीलदार व जोनल अधिकारी करनवीर सिंह के नेतृत्व में एमडीए की प्रवर्तन टीम अब्दुल्लापुर में सनबीम इंटर कालेज के पीछे बनी कालोनी को ध्वस्त करना शुरू कर दिया. नोडल अधिकारी धीरज सिंह ने बताया कि अवैध रूप से निर्माण की गई कालोनी करीब 25 बीघा में फैली हुई है, इस पर इरशाद व जुबेर आदि ने कालोनी काटी है. कार्रवाई के दौरान बुलडोजर ने सड़कें, खंभे, दर्जनों प्लाटों की चहारदीवारी व करीब आधा दर्जन मकान एक के बाद एक जमींदोज कर दिए. इस दौरान महिलाओं ने विरोध किया, पुलिस व लोगों के बीच नोंकझोंक हुई लेकिन पुलिस बल की मौजूदगी में किसी की एक न चली. बड़ी संख्या पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी और एमडीए की टीम कार्रवाई के दौरान मौजूद रही.

लोगों का फूटा गुस्सा

ध्वस्तीकरण के दौरान बुलडोजर ने आधा दर्जन लोगों के मकान जमींदोज कर दिए. इसके अलावा जाफिर की बल्ली की फैक्ट्री व रईस की अलमारी बनाने का प्रतिष्ठान भी ध्वस्त कर दिया. लोगों ने आरोप लगाया कि हसीन अहमद ने फर्जी शिकायत की है.