BAREILLY: त्रिशूल एयरबेस की सिक्योरिटी लगातार खतरे में पड़ रही है. बर्ड हिट के खतरे के बाद अब अवैध निर्माण से त्रिशूल को खतरा हो रहा है. एयरफोर्स की बाउंड्रीवॉल के 100 मीटर के दायरे में निर्माण पर पूरी तरह से रोक लगी हुई है. एयरफोर्स के अधिकारियों ने इस खतरे को भांपते हुए मामले की शिकायत एडीएम सिटी से की है. एडीएम सिटी जल्द ही इस मामले में बीडीए को पत्र लिखकर कार्रवाई के लिए लिखेंगे. वहीं बीडीए भी शिकायत मिलने पर अवैध निर्माण रोकने की बात कर रहा है.

कॉलोनी बनाकर बेचे जाएंगे मकान

एयरफोर्स स्टेशन बरेली के चीफ एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर शिवानंद ने एडीएम सिटी से शिकायत की है. एयरफोर्स स्टेशन के वेस्टर्न साइड में 100 मीटर के रिस्ट्रिक्टेड जोन में गायत्री नगर की गली नंबर 17 में अवैध निर्माण किया जा रहा है. सुखराम शर्मा, शर्मा कांस्ट्रक्शन के नाम एयरफोर्स की बाउंड्री के पीछे खाली एरिया में प्लॉटिंग कर रहा है. यही नहीं कुछ अन्य लोग भी मकान का निर्माण कर रहे हैं. यह सभी मकान बिक्री के लिए बनाए जा रहे हैं. इसके लिए विज्ञापन भी किया जा रहा है.

100 मीटर के दायरे में निर्माण अवैध

एयरफोर्स स्टेशन के 100 मीटर के दायरे में किसी भी तरह के निर्माण पर पूरी तरह से रोक लगी हुई है. वर्ष 2010 में इसका आदेश भी जारी हो रखा है. इसके बावजूद भी बाउंड्रीवॉल के किनारे अवैध निर्माण लगातार जारी है. वर्ष 2016 में पठानकोट एयरपोर्ट पर हमले के बाद सभी एयरफोर्स स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. जिसके बाद अवैध निर्माण को चिन्हित किया गया था. बीडीए ने 336 भवन अवैध चिह्नित किए थे. इसके अलावा 175 भवनों का आंशिक चिह्नांकन किया गया था. नगर निगम ने भी सर्वे किया था और सीनियर अधिकारियों को रिपोर्ट सौंपी गई थी.

बार-बार शिकायत के बाद भी नहीं एक्शन

एयरफोर्स स्टेशन खतरों से बचने के लिए समय-समय पर प्रशासन को अवगत कराता रहता है. प्रशासन के साथ होने वाली मीटिंग में भी इन प्रॉब्लम को रखा जाता है. मीटिंग में निर्देश दिए जाते हैं कि प्रॉब्लम का समाधान किया जाएगा, लेकिन उसके बाद सब भूल जाते हैं. एयरफोर्स स्टेशन के आसपास अवैध निर्माण और आसपास मरे हुए जानवर व मांस फेंकने की शिकायतें की जा चुकी हैं, लेकिन इन पर रोक नहीं लगाई गई है.

एयरफोर्स के 100 मीटर दायरे में अवैध निर्माण की शिकायत मिली है. बीडीए को इस संबंध में कार्रवाई के निर्देश दिए जाएंगे.

ओपी वर्मा, एडीएम सिटी

अभी कोई भी शिकायत नहीं मिली है. यदि कोई शिकायत आएगी तो तुरंत कार्रवाई कर अवैध निर्माण रुकवाया जाएगा.

सुरेंद्र कुमार, सचिव बीडीए