सड़क पर सवारी भरने से रोजाना होती परेशानी

शहर में साढ़े सात हजार टेंपो का हो रहा संचलन

GORAKHPUR: सिटी की ट्रैफिक व्यवस्था सुधर नहीं पा रही है. शहर में आवश्यकता से अधिक टेंपो चलने से जाम की नौबत बनी हुई है. आटो ड्राइवर की लापरवाही राहगीरों पर भारी पड़ रही है. रूट निर्धारण के बावजूद मनमानी तरीके से टेंपो चलने से ट्रैफिक का दबाव बना हुआ है. टै्रफिक व्यवस्था सुधारने में पुलिस हांफ जा रही है. शहर में करीब पौने आठ हजार टेंपो का संचलन होता है. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बदलाव और सुधार के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. टेंपो चालकों की मनमानी पर लगाम कस करके व्यवस्था सुचारू ढंग से चलाई जाएगी.

स्टैंड तय नहीं, मनमाफिक खड़े हो रहे टेंपो

शहर में आटो स्टैंड तय नहीं है. हर चौराहे के किनारे टेंपो खड़े करके ड्राइवर्स ने आटो स्टैंड बना दिए हैं. अभियान चलाने के दौरान अवैध ढंग से बने स्टैंड पर खड़े टेंपो को खदेड़ा जा रहा है. टेंपो खड़े होने के लिए निर्धारित स्टैंड और बुनियादी सुविधाओं के अभाव में टेंपो ड्राइवर सड़कों के किनारे वाहन खड़े करके सवारी भर रहे हैं, जो काफी लोगों के लिए आफत बन जा रहा है. टेंपो में सवारी भरने से सड़क पर जाम की नौबत रोजाना आ जा रही है. हालत तो यह हो गई है कि रूट निर्धारित होने के बावजूद शहर में मनमानी तरीके से टेंपो चल रहे हैं.

यहां लगता जाम, होती परेशानी

मेडिकल कालेज गेट - मेडिकल कालेज गेट के सामने टेंपो खड़े होते हैं, जिससे वाहनों के आने जाने के लिए रास्ता नहीं बचता है. मेडिकल कालेज के सामने से महराजगंज रोड गुजरती है. यहां ट्रैफिक का दबाव होने से गेट के सामने खड़े वाहन जाम की वजह बन जाते हैं.

धर्मशाला बाजार- धर्मशाला बाजार पुल के नीचे टेंपो खड़े होते हैं, जिससे अक्सर रोड जाम हो जाती है. एक ओर सड़क पर अतिक्रमण का बसेरा है तो दूसरी ओर टेंपो वाले सवारी के चक्कर में आगे-पीछे करते रहते हैं. इससे अक्सर जाम लगने पर पुलिस को डंडा चलाना पड़ता है.

रुस्तमपुर ढाला- शहर के रूस्तमपुर ढाला के पास टेंपो खड़े होते हैं. इससे आजाद चौक से लेकर रुस्तमपुर तक जाम लगा रहता है. हाइवे के चौराहे पर टेंपो वालों के सवारी भरने की होड़ में व्यवस्था बिगड़ जाती है.

रेलवे स्टेशन तिराहा- रेलवे स्टेशन के सामने महाराणा प्रताप की प्रतिमा के पास टेंपो खड़े होते हैं. टेंपो खड़े होने के दौरान परिवहन निगम की बसों के गुजरने, ट्रेन आने पर पैंसेजर की भीड़ निकलने पर पूरा रास्ता जाम हो जाता है. इससे रेलवे स्टेशन के दोनों ओर सड़क की लेन फंसी रहती है.

असुरन चौक- असुरन चौराहे पर मेडिकल कालेज रोड, पादरी बाजार और चार फाटक रोड पर तीनों ओर टेंपो खड़े होते हैं. चौराहे पर कम जगह होने से दुकानों के सामने आटो स्टैंड बन गया है. टेंपो खड़े होने से चौराहे पर अक्सर जाम लग जाता है. इससे एबुलेंस लेकर मेडिकल कालेज जाने वाले लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है.

शास्त्री चौराहा- डीएम कार्यालय के पास शास्त्री चौराहे पर दोनों ओर टेंपो खड़े होते हैं. इससे बेतियाहाता चौराहे से शास्त्री चौराहा, अंबेडकर चौक से शास्त्री चौराहा और कचहरी चौराहा का रास्ता ब्लाक हो जाता है.

अंबेडकर चौराहा - अंबेडकर चौराहा पर चहुंओर टेंपो खड़े हो जाते हैं. इससे ट्रैफिक का दबाव बढ़ जाता है. अंबेडकर चौराहे पर दबाव बढ़ने से हरिओम नगर, छात्रसंघ चौराहा और शास्त्री चौराहा और कैंट थाना चौराहा जाम में फंस जाता है.

इन जगहों पर टेंपो लगाते जाम

गणेश चौराहा-गणेश होटल के सामने

काली मंदिर-सीओ कैंट आफिस के पास

खजांची चौक-मेडिकल कालेज रोड

बरगदवां चौराहा-गोरखनाथ रोड

ओंकार नगर तिराहे से बालापार रोड

कूड़ाघाट से लेकर मोहद्दीपुर के बीच

यह होना चाहिए समाधान

- शहर में जगह-जगह पार्किंग की व्यवस्था बनाई जाए.

- टेंपो संचलन के लिए वैध रूप से स्टैंड का निर्माण हो.

- रूट का निर्धारण ऐसा हो कि एक चक्कर लगाकर आटो आगे बढ़ते जाएं.

- चौराहे के आसपास अवैध ढंग से सवारी भरने पर पूरी तरह से रोक लगे.

- टेंपो संचलन के लिए निर्धारित रूट का सख्ती से पालन हो.

- सड़क पर जहां-तहां सवारी भरने पर पुलिस चालान काटकर जुर्माना वसूले.

- शहर में टेंपो की बढ़ती संख्या रोकने के लिए उपाय जरूरी हैं.

आरटीओ में रजिस्टर्ड टेंपो- 7400

शहर में चलने वाले ग्रीन आटो- 2600

शहर से संचालित होने वाले काले टेंपो- 4800

रोजाना टेंपो से सफर करने वाले पैसेजर- दो लाख

इन रूट्स पर ज्यादा भीड़

- धर्मशाला बाजार से गोरखनाथ- बरगदवां रोड

- धर्मशाला बाजार-काली मंदिर से असुरन- मेडिकल कालेज रोड

- मोहद्दीपुर से चार फाटक असुरन रोड- कूड़ाघाट- सूबा बाजार

- गणेश चौक से अंबेडकर चौक-रुस्तमपुर ढाला रूट

- शास्त्री चौराहा से टीपी नगर-सहजनवां

- अंबेडकर चौक से मोहद्दीपुर रूट-पैडलेगंज चौराहा

ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं. टेंपो संचलन के लिए रूट निर्धारित कर दिया गया है. टेंपो ड्राइवर के लिए वर्दी पहनने पर जोर दिया जा रहा है. अवैध ढंग से टेंपो स्टैंड चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी. व्यवस्था सुधारने के लिए अन्य सभी विभागों की मदद ली जाएगी.

आदित्य प्रकाश वर्मा, एसपी ट्रैफिक