gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR : जिले में अवैध शराब के कारोबार से इंकार करने वाले थानेदार रविवार को दिनभर कार्रवाई में जुटे रहे। एसएसपी को गुमराह करके झूठी रिपोर्ट भेजने वाले दरोगाओं की धर-पकड़ देखकर पब्लिक भी हैरत में पड़ी रही। चिलुआताल एरिया में अवैध शराब की मिनी डिस्टीलरी चलने की हकीकत सामने आने पर एसओ के झूठ की पोल खुल गई। जान हथेली पर रखकर सीओ ने खुद छापेमारी कराई। जिलेभर में चले अभियान में 20 से अधिक लोगों को अरेस्ट करते हुए पुलिस ने तीन सौ लीटर अवैध शराब, 11 सौ ग्राम नौसादर सहित भारी मात्रा में शराब बनाने का सामान बरामद किया।

कारोबार का गढ़ चिलुआताल

जहरीली शराब से मौतों के बाद जागा पुलिस महकमा ताबड़तोड़ कार्रवाई में जुटा है। रविवार को दिनभर पुलिस टीमें अपने थाना क्षेत्रों में भागदौड़ करती रही। चिलुआताल एरिया में सीओ रोहन प्रमोद बोत्रे की अगुवाई में टीम में ताल में नाव से छापेमारी की। ताल के पानी के भीतर नाव पर शराब बनाने की फैक्ट्री देखकर सीओ दंग रह गए। जान हथेली पर लेकर पानी में उतरे सीआ को गुमराह करने का प्रयास थानेदार ने किया। लेकिन सीओ की सख्ती के आगे एसओ की नहीं चली। उधर गुलरिहा एरिया के सरहरी में पुलिस का एक्शन नजर आया। कारोबारियों को संरक्षण देने वाले कुछ सिपाही गुडवर्क के चक्कर में दौड़ते रहे। चौकी इंचार्ज श्याम सुंदर तिवारी ने टीम के साथ तीन सौ कुंतल महुआ लहन नष्ट किया। 10 भट्ठियों को तोड़कर शराब बनाने का सामान पुलिस ने कब्जे में लिया।

नष्ट किया गया 110 कुंतल लहन
जिला आबकारी अधिकारी वीपी सिंह के नेतृत्व में रविवार को कच्चीकारोबारियों के खिलाफ अभियान चला। आबकारी निरीक्षक केके सिंह व अरविंद सिंह ने खजनी व सहजनवां में 35 लीटर कच्ची पकड़ी और आठ कुंतल लहन नष्ट किया। साथ ही तीन शराब कारोबारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया। बेलवार गांव में 30 लीटर कच्ची शराब पकड़ी गई। मौके पर एक अभियोग दर्ज किया गया। वहीं, गोला क्षेत्र में 25 लीटर कच्ची शराब पकड़ी गई और 100 किलोग्राम लहन नष्ट किया गया।

नौसादर, यूरिया बनाती खतरनाक
जिले में अवैध शराब कारोबारी नशा बढ़ाने के लिए केमिकल यूज करते हैं। शराब बनाने के लिए स्प्रिट, महुआ, गुड़ के अलावा नौसादर, यूनिया और आक्सीटोसिन इंजेक्शन का प्रयोग करते हैं। इससे नशे की मात्रा दो से तीन गुना बढ़ जाती है। शराब पीने वाले जल्दी असर होने पर कम मात्रा के सेवन से नशे में झूम उठते। केमिकल्स के मनमानी उपयोग से ही शराब जहरीली हो जाती है।

यहां हुई बरामदगी
* गोरखनाथ
* गुलरिहा
* बड़हलगंज
* बांसगांव
* सहजनवां
* बेलीपार
* गोला
* चिलुआताल


अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलता रहेगा। सभी थानेदारों को कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।
डॉ. सुनील गुप्ता, एसएसपी, गोरखपुर

Crime News inextlive from Crime News Desk