सरकार के अभियान का सच बता रहे हालात

आदर्श गांवों में भी कई लोग निरक्षर

- बहरोड़ा में 70 तो भगवानपुर में 140 लोग निरक्षर

- साक्षरता मिशन के तहत सर्वे में हुआ खुलासा

Meerut . सांसद के आदर्श गांवों में 200 से अधिक लोग निरक्षर हैं. बहरोड़ा में 70 तो भगवानपुर में 140 लोग निरक्षर पाए गए. साक्षरता मिशन के तहत कराए गए सर्वे में यह बात सामने आई है.

माननीयों के गांवों का हाल

सांसद आदर्श गांव के तहत सभी सांसदों ने एक-एक गांव गोद लिया था. इसके तहत भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने भगवानपुर तथा बसपा से राज्यसभा सांसद मुनकाद अली ने बहरोड़ा गांव गोद लिया था.

यह कैसा आदर्श गांव

आदर्श गांव के तहत गांवों के सर्वागीण विकास का मकसद था.गांवों में सभी सुख सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं. रोजगार और अच्छी सड़के भी उपलब्ध कराई जाएं. लेकिन साक्षरता के लिए कोई खास पहल नहीं की गई.

सर्वे में सच्चाई आई सामने

साक्षरता अभियान के तहत कराए गए सर्वे के बाद गांव में एक अभियान चलाया गया. लोगों को पढ़ाने के लिए आगामी दिनों में अब उन निरक्षर लोगों की परीक्षा कराई जाएगी. वहीं सांसद राजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि गांव में साक्षरता अभियान चलाया गया था.

साक्षरता के लिए समय-समय पर अभियान चलाया जाता है. बीते दो माह पहले भी अभियान चलाया गया था. यदि कोई निरक्षर है तो उनको पढ़ाया जाएगा. अभियान चलाकर उनको साक्षर किया जाएगा.

राजेंद्र अग्रवाल सांसद मेरठ-हापुड़ लोकसभा

साक्षरता के लिए सरकार की ओर से निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. साक्षरता के लिए गांव में दो शिक्षक हैं, जोकि निरक्षर लोगों को साक्षर करने में जुटे हुए हैं. बीते दो माह पहले की साक्षरता को लेकर गांव में अभियान चलाया गया था. लोगों में साक्षरता के प्रति धीरे-धीरे जागरूकता आ रही है.

-अनिल तोमर प्रधान भगवानपुर

आबादी

भगवानपुर - 3600

बहरोड़ा- 4000