पूरे सावन माह में शिवलिंग की पूजा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। इन छोटी—छोटी बातों से आपके जीवन में बहुत बदलाव देखने को मिलेंगे और प्रभु की कृपा आपके पूरे परिवार पर रहेगी।

1— अगर आपकी कुंडली में शनि दोष है या फिर किसी प्रकार से शनि आपको परेशान कर रहे हैं तो जल में काले तिल मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। कुंडली में मंगल दोष है तो घर में पके हुए चावलों से भगवान शिव का पूजन करें।

सावन विशेष: शिव जी को अर्पित करें धतूरा,घर में गूंजेगी किलकारी,जानें और 7 बातें

2— सावन में शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय दोनों हथेलियों से शिवलिंग को रगड़ें। यह ऐसे होना चाहिए जैसे आप शिवजी के पैर दबा रहे हों। माना जाता है कि इससे भाग्य की बाधा दूर होती है और आरोग्य सुख के साथ जीवन में प्रगति की रफ्तार तेज होती है।

3— अगर आप बीमारियों से परेशान हो चुके हैं तो पानी में दूध तथा काले तिल मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। माना जाता है कि इससे रोगों से जल्दी मुक्ति मिलती है।

4— घर की आर्थिक स्थिति सही नहीं है तो सावन में हर रोज शिवलिंग पर अखंडित चावल यानी अक्षत चढ़ाएं। इससे भगवान शिव के साथ माता लक्ष्मीजी की भी कृपा होती है। इससे मानसिक और आर्थिक बल मिलता है।

5—अगर आपके घर में बच्चे की किलकारी नहीं गूंज रही हैं तो सावन में हर रोज शिवलिंग पर धतूरा चढ़ाएं। मान्यताओं के अनुसार इससे संतान सुख के योग प्रबल होते हैं।

सावन विशेष: शिव जी को अर्पित करें धतूरा,घर में गूंजेगी किलकारी,जानें और 7 बातें

6— मेहनत करने के बाद भी अगर आपको कार्य में सफलता नहीं मिल रही है तो सावन में हर रोज पारद शिवलिंग की पूजा करें। घर में पारद शिवलिंग की स्थापना करवा सकते हैं।

7— अगर आप वाहन सुख चाहते हैं तो सावन में हर रोज शिवलिंग पर पूजा करते समय चमेली के फूल चढ़ाएं और ओम नम: शिवाय का 108 बार जप करें। मान्यता है कि इससे वाहन और भौतिक सुख की प्राप्ति होती है।

8— अगर आपके विवाह में देरी हो रही है या फिर वैवाहिक जीवन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है तो सावन में हर रोज जल में केसर मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करें। माता पार्वती की भी पूजा करें।

-ज्‍योतिषाचार्य पंडित श्रीपति त्रिपाठी

सावन में भूलकर भी ना करें ये 7 काम, भगवान शिव हो सकते हैं नाराज

सावन में शिव को बिल्व 'पत्र' चढ़ाने के 4 महत्व, जानें पत्र तोड़ने का नियम