नमक का जीवन में बहुत उपयोग है। नमक हमारी आयु बढ़ाता भी है और नमक ही आयु घटाता भी है। वैसे तो नमक के ढेरों उपाय हैं, लेकिन ज्योतिषाचार्य पंडित श्रीपति त्रिपाठी बता रहे हैं नमक के ऐसे चमत्कारिक उपाय, जिन्हें जानकर शायद आप हैरान रह जाएंगे। नमक कई प्रकार के होते हैं: सेंधा नमक (पहाड़ी नमक), समुद्री नमक, काला नमक, सामान्य नमक आदि।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नमक को चंद्र और शुक्र का प्रतिनिधि माना जाता है। नमक को कुछ लोग राहु का प्रतीक भी मानते हैं। नमक के कई फायदे हैं, जो हमारे पूरे घर की सुख-समृद्धि से जुड़े हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, नमक को यदि आप किसी स्टील या लोहे के बर्तन में रखते हैं तो यह चंद्र और शनि का मिलन होगा जो कि बहुत ही घातक सिद्ध होता है। यह रोग और शोक का कारण बन जाता है। नमक को किसी प्लास्टिक के पात्र में भी नहीं रखना चाहिए। नमक को सिर्फ कांच के पात्र में रखने से ही यह बुरा असर नहीं देता है। नमक को सीधे—सीधे किसी व्यक्ति के हाथ में मत दीजिए। नमक का पैकेट भी देने से बचना चाहिए। ऐसा मानते हैं कि इससे व्यक्ति के संबंध खराब होते हैं।

नमक का ऐसे करें इस्तेमाल

दरिद्रता दूर करने के लिए

सप्ताह में एक बार गुरुवार को छोड़कर पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा साबुत खड़ा नमक (समुद्री नमक) मिला लेना चाहिए। इस उपाय से भी घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है।

धन का प्रवाह बनाए रखने हेतु

घर में धन का प्रवाह बनाए रखने के लिए कांच का एक गिलास लेकर उसमें पानी और नमक मिलाकर घर के नैऋत्य कोने में रख दें और उस के पीछे लाल रंग का एक बल्ब लगा दें, जब भी पानी सूखे तो उस गिलास को साफ करके दोबारा नमक मिलाकर पानी भर दें।

नमक के चमत्कारी उपाय: कई समस्याएं हो जाएंगी छू-मंतर,घर में होगी खुशहाली

धन प्राप्ति और बरकत हेतु

नमक को कांच के पात्र में रखें और उसमें चार-पांच लोंग डाल दें। इससे धन की आवक शुरू होने लगेगी और घर में बरकत भी बनी रहती है। इससे एक ओर जहां नमक में सुगंध बनी रहेगी वहीं इस उपाय से कभी धन की कमी नहीं होगी।

बाथरूम और टॉयलेट दोष से मुक्ति

नमक हर तरह की गंदगी को हटाने वाला रसायन है। एक कांच की कटोरी में खड़ा नमक (समुद्री नमक) भरें और इस कटोरी को बाथरूम में रखें। इस उपाय से भी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो सकती। टॉयलेट में कांच के बाऊल में क्रिस्टल साल्ट (दरदरा नमक) भर कर रखें, 15 दिन बाद बदल दें, पहला टाॅयलेट के सिंक में डाल दें।

वास्तुदोष मिटाएं नमक से

मन में खिन्नता, भय, चिंता होने से, दोनों हाथों में साबुत नमक भर कर कुछ देर रखे रहें, फिर वॉशबेसिन में डालकर पानी से बहा दें। नमक इधर उधर न फेंके।

नजर उतारने के लिए

यदि आपको या किसी बच्चे को किसी की नजर लग गई है तो सात बार एक चुटकी नमक उस पर से उतारकर उसे बहते पानी में बहा दें। इससे नजर दोष दूर हो जाएगा। व्यक्तिगत बाधा के लिए एक मुट्ठी पिसा हुआ नमक लेकर शाम को अपने सिर के ऊपर से तीन बार उतार लें और उसे दरवाजे के बाहर फेंकें। ऐसा तीन दिन लगातार करें। यदि आराम न मिले तो नमक को सिर के ऊपर वार कर शौचालय में डालकर फ्लश चला दें। निश्चित रूप से लाभ मिलेगा।

नमक के चमत्कारी उपाय: कई समस्याएं हो जाएंगी छू-मंतर,घर में होगी खुशहाली

कुंडली में चंद्र और मंगल कमजोर है तो

अगर कुंडली में चंद्र कमजोर है तो समुद्री या सामान्य नमक का भोजन में इस्तेमाल न करें बल्कि सेंधा नमक का इस्तेमाल करें। इससे आप रक्तचाप की समस्या से बचे रहेंगे। हर मंगल हनुमान जी के मंदिर जा कर पूजा करें।

मन की बैचेनी मिटाएं

यदि आपका मन बहुत अशांत रहता है। विचार चलते रहते हैं किसी प्रकार की चिंता से ग्रस्त रह रहे हैं तो इससे आपका स्वास्थ्य गिरता जाएगा। नमक मिले हुए जल से स्नान करने से शरीर तो शुद्ध होगा ही साथ ही मन की बैचेनी भी शांत हो जाएगी।

गृह क्लेश से बचने हेतु

यदि पति और पत्नी में किसी भी बात को लेकर अनबन है या गृहक्लेश है या किसी भी प्रकार की मानसिक अशांति है तो सेंधा या खड़े नमक का एक टुकड़ा शयनकक्ष के एक कोने में रखें, इससे नकारात्मक ऊर्जा दूर होगी। इस टुकड़े को महीने भर के बाद बदल दें और दूसरा नया टुुकड़ा रख दें।

रोग से मुक्ति हेतु

सोते समय अपना सिरहाना पूर्व की ओर रखें। अपने सोने के कमरे में एक कटोरी में सेंधा नमक के कुछ टुकडे रखें। इससे आपकी सेहत ठीक रहेगी। रोग से बचने के लिए साधारण नमक का कम ही उपयोग करना चाहिए। उसकी जगह सेंधा नमक या काले नमक का उपयोग भोजन के दौरान करना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति लंबी बीमारी से ग्रसित हैं तो उसके सिरहाने कांच के एक बर्तन में नमक रखें। एक सप्ताह बाद उस नमक को बदल कर दोबारा नमक रख दें। धीरे धीरे उस व्यक्ति की सेहत में सुधार होने लगेगा।

अगर गुरुवार को करेंगे ये 4 काम तो जल्द बनेगा विवाह का योग

अगर चाहते हैं धन अपार तो बुधवार को करें ये 6 उपाय, मां लक्ष्मी की होगी कृपा

Spiritual News inextlive from Spiritual News Desk