सड़कों पर लगे कूड़े के ढेर, ठप पड़ी सफाई व्यवस्था

Meerut. दो दिन से निगम के सैकड़ों सफाई व जल-मल कर्मचारी निगम परिसर में धरने पर बैठे हैं. जिसने पहले से कूड़ा निस्तारण की समस्या से जूझ रहे निगम की परेशानी को और बढ़ा दिया है. हालांकि निगम कर्मचारी कार्य बहिष्कार से इंकार कर रहे हैं लेकिन सड़कों पर लगे कूड़े के ढेर और ठप पड़ी सफाई व्यवस्था कुछ और ही तस्वीर बयां कर रही है.

संविदा कर्मचारी के भरोसे

निगम में धरना सुबह 10 बजे से शुरू हो जाता है. जिससे पहले कर्मचारी जहां-तहां से कूड़ा उठाकर लोहियानगर के अस्थाई डंपिंग ग्राउंड पर डाल आते हैं. 10 बजे कर्मचारी धरने पर बैठ जाते हैं जिससे पूरे दिन शहर से कूड़ा उठाने और सफाई की व्यवस्था संविदा सफाई कर्मचारियों के कंधे पर आ जाती है. ऐसे में निगम के सभी कार्यालयों पर तालाबंदी समस्या को और बढ़ा देती है. अधिकारी सीटों पर नहीं बैठ पा रहे हैं, जिसके चलते संविदा कर्मचारी ड्यूटी से कन्नी काट जाते हैं.

कूड़ा शहर के सभी क्षेत्रों से उठाया जा रहा है. धरने से काम पर प्रभाव नहीं है और गावड़ी में भी प्लांट का काम जल्द शुरू होने जा रहा है.

अली हसन कर्नी, अपर नगरायुक्त