कानपुर। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में कमाल कर दिया। मैच के तीसरे दिन भारत की दूसरी पारी के दौरान विराट के बल्ले से शानदार शतक निकला। विराट ने 103 रन की शानदार पारी खेली। टेस्ट क्रिकेट में कोहली की यह 23वीं टेस्ट सेंचुरी है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, विराट को यहां तक पहुंचने में सिर्फ 7 साल लगे। भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से तुलना करें तो विराट उनसे 4 साल पहले इस रिकॉर्ड तक पहुंच गए। विराट ने साल 2011 में टेस्ट डेब्यू किया था और इतने कम समय में एक खास उपलब्धि हासिल कर ली।
सचिन से 4 साल पहले ही कोहली ने ठोक दी 23वीं टेस्ट सेंचुरी,इतना निकल गए आगे
सचिन से तेज निकले विराट
विराट और सचिन के 23 टेस्ट शतकों का रिकॉर्ड देखें तो विराट को यहां पहुंचने में 2011 से 2018 तक का समय लगा जबकि सचिन ने पहला मैच 1989 में खेला था और 23वां टेस्ट शतक साल 2000 में आया। इस लिहाज से विराट ने 7 साल में यह कारनामा कर दिया वहीं सचिन को 11 साल लग गए थे। क्रिकइन्फो के डेटा की मानें तो, सचिन ने इस दौरान 78 मैच खेले वहीं विराट ने सिर्फ 69। हालांकि रनों में सचिन आगे हैं उनके नाम 6215 रन दर्ज हैं तो विराट के खाते में 5994 रन शामिल हैं।

एवरेज में थोड़ा पीछे हैं विराट
क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने में विराट कोहली को भले ही काफी वक्त लगेगा मगर वह उनसे तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। 23 टेस्ट शतक के बाद सचिन का औसत जहां 55.49 था वहीं विराट 54.49 की एवरेज से रन बना रहे।
सचिन से 4 साल पहले ही कोहली ने ठोक दी 23वीं टेस्ट सेंचुरी,इतना निकल गए आगे
भारत पहुंचा मजबूत स्थिति में
भारत बनाम इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा टेस्ट नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में खेला जा रहा। मैच का तीसरा दिन टीम इंडिया के नाम रहा। दूसरी पारी में भारत ने 7 विकेट पर 357 रन बनाए और पारी घोषित कर दी। अब इंग्लैंड को जीत के लिए 520 रन बनाने हैं क्योंकि वह पहली पारी में भी 160 रन से पिछड़ गए थे। इस टेस्ट में भारतीय कप्तान विराट कोहली का बल्ला खूब चला। फर्स्ट इनिंग में जहां वह 3 रन से शतक से चूक गए थे तो वहीं दूसरी पारी में उन्होंने इसका बदला निकाला और करियर का 23वां टेस्ट शतक जड़ा। शतक लगाते ही विराट ने अपने अंदाज में इसका जश्न मनाया।


Cricket News inextlive from Cricket News Desk