- बल्लिया स्थित राम निवास पार्वती इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र पर दे रहा था पेपर

- इंटरमीडिएट की पहली बड़ी परीक्षा में ही अफसरों के दावों की खुली पोल

bareilly@inext.co.in

BAREILLY : यूपी बोर्ड परीक्षा में ट्यूजडे को एक मुन्ना भाई पकड़ में आया तो प्रशासन के नकल विहीन परीक्षा कराने के दावों की पोल खुल गई. इतनी चेकिंग होने के बाद भी दोपहर की पाली में हुई इंटरमीडिएट की हिंदी की परीक्षा में वह न सिर्फ परीक्षा केंद्र में प्रवेश कर गया बल्कि एक घंटा तक हिंदी के प्रश्नों को हल करता रहा. मामला जब पकड़ में आया तो हड़कंप मच गया. पूछताछ में उसने एक केंद्र व्यवस्थापक का नाम लेकर मामले को और उलझा दिया है. मुन्नाभाई के खिलाफ थाने में तहरीर दी गई. उसकी लिखी गई कॉपी को सील करके बोर्ड को सूचना भेज दी गई है. वहीं पुलिस ने तहरीर के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली है.

फोटो से आया पकड़ में
मामला आंवला तहसील क्षेत्र के बल्लिया स्थित राम निवास पार्वती इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र का है. दोपहर को इंटरमीडिएट की हिंदी के पेपर में अनीस पुत्र रफीक के रोल नंबर 669652 पे संजय राठौर पुत्र राजवीर राठौर निवासी ग्राम खेड़ा पेपर दे रहा था. कक्ष निरीक्षक ने नोमिनल रोल व प्रवेश पत्र में चस्पा फोटो का मिलान कराया गया तो वह अलग-अलग थे. पड़ताल के दौरान ही आंतरिक सचल दल भी पहुंच गया. पूछताछ में कलई खुल गई, जिससे हड़कंप मच गया.

केंद्र व्यवस्थापक पर लगाया आरोप
कड़ाई से पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह खेड़ा के सर्वोदय जन कल्याण इंटर कॉलेज में 11वीं का छात्र है. वहां के केंद्र व्यवस्थापक हरिओम गुप्ता के कहने पर अनीस के स्थान पर परीक्षा देने अाया था.

मिले अहम सुराग
सूत्रों की मानें तो आरोपी ने परीक्षाओं की पारदर्शिता में गड़बड़ी को लेकर कई अहम सुराग भी दिए हैं, जिन पर कार्रवाई शुरू हो गई है. हालांकि अफसरों ने मिली जानकारी को बताने से इनकार किया है.

वर्जन-

परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा देने पहुंचे आरोपित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई व बोर्ड परीक्षा में अनुचित साधन का प्रयोग करने संबंधी कार्रवाई की गई है.

डॉ. अवनीश यादव, यूपी बोर्ड परीक्षा नियंत्रक