patna@inext.co.in

PATNA/CHAPRA : विरोध करने के कई तरीके आपलोगों ने देखा होगा. लेकिन किसी अधिकारी के कार्यालय के दरवाजे पर मरा कुत्ता टांगकर विरोध करने का जुदा अंदाज शायद ही आपने कहीं देखा नहीं होगा. यह तरीका अपनाया है छपरा नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने. अपनी मांगों को लेकर छपरा नगर निगम के सफाईकर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं. हड़ताल के तीसरे दिन शुक्रवार को शहर की मुख्य सड़क पर कूड़ा फेंक कर विरोध प्रदर्शन किया. जिसे पूरे शहर में गंदगी फैल गई. जिससे सबसे ज्यादा परेशानी दुर्गा पूजा समिति के लोगों को हुआ. पूजा पंडाल के आसपास भी गंदगी लग गई है.

वेतन को लेकर किया हड़ताल

नगर निगम प्रशासन हड़ताल खत्म कराने के प्रयास में जुटा है लेकिन सफाईकर्मी बिना मानदेय बढ़ाए मानने के मूड में नहीं हैं. हड़ताल खत्म करने के लिए नगर आयुक्त अजय कुमार सिन्हा ने बिहार लोकल बॉडिज इम्पालइज फेडरेशन के सारण जिला के अध्यक्ष रामचंद्र प्रसाद यादव एवं सचिव सियाराम सिंह के साथ वार्ता किया था. नगर आयुक्त मानदेय बढ़ाने का आश्वासन दे रहे जबकि सफाईकर्मी स्थाई सशक्त समिति की बैठक करके बोर्ड के प्रत्याशा में मानदेय बढ़ाने की मांग पर अड़े है. वार्ता विफल होने के बाद शुक्रवार को सफाई कर्मियों ने निगम कार्यालय से जुलूस निकाला जो समाहरणालय पथ, डाक बंगला रोड होते हुए डीएम आवास पर पहुंच कर प्रदर्शन किया. वहां से जुलूस दारोगा राय चौक होते श्री नंदन पथ, नगर पालिका चौक, सलेमपुर, मौना चौक, हथुआ मार्केट होते हुए नगर पालिका चौक पर प्रदर्शन कर सभा किया.

दुर्गध की वजह से लोगों को सड़कों पर चलना हुआ दुश्वार

कूड़े से निकल रहे सड़ांध से सड़कों पर लोगों को चलना भी दुश्वार हो गया है. सफाई कर्मियों के हड़ताल के कारण शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गयी है, विभिन्न चौक- चौराहे पर कूड़ों का अंबार लग गया है. प्रदर्शनकारी सफाई कर्मी जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के आवास के समक्ष जमकर प्रदर्शन किया. इतना ही नहीं नगर निगम के नगर आयुक्त अजय कुमार सिन्हा के कार्यालय कक्ष के दरवाजा पर मरा कुत्ता टांग दिया.