वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका भारत में छह अमेरिकी न्युक्लियर पावर प्लांट लगाने के लिए तैयार हो गया है। दोनों देशों ने बुधवार को भारत-अमेरिका रणनीतिक सुरक्षा वार्ता के 9वें राउंड के समापन पर इस बात पर सहमति जताई। बता दें कि इस बैठक में भारत के विदेश सचिव विजय गोखले और अमेरिकी विदेश मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली आर्म्स कंट्रोल और इंटरनेशनल सिक्योरिटी विभाग के सचिव एंड्रिया थॉम्पसन मौजूद थे। मीटिंग के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया, 'अमेरिका ने द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने और सिविल परमाणु सहयोग को मजबूती देने के इरादे से भारत में छह अमेरिकी न्युक्लियर पावर प्लांट लगाने का फैसला किया है।'

2008 में हुआ था समझौता

बता दें कि भारत और अमेरिका ने अक्टूबर 2008 में सिविल परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग करने के एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इस सौदे ने द्विपक्षीय संबंधों को काफी मजबूती दी, यह समझौता तब से जारी है। भारत ने अमेरिका के अलावा फ्रांस, रूस, कनाडा, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, यूके, जापान, वियतनाम, बांग्लादेश, कजाकिस्तान और दक्षिण कोरिया के साथ भी सिविल परमाणु सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। बुधवार को, अमेरिका ने 48-सदस्यीय न्युक्लियर सप्लायर ग्रुप (एनएसजी) में भी भारत की सदस्यता के लिए अपना समर्थन देने का वादा किया। बैठक के दौरान, दोनों देशों ने वैश्विक सुरक्षा और आतंकवाद के मुद्दे पर भी चर्चा की।

अमेरिकी राजनयिक की चीन को चेतानवी, अगर आगे भी यूएन में मसूद को बचाया तो अन्य सदस्य उठा सकते हैं दूसरा कदम

International News inextlive from World News Desk