मानसून ने समय से तीन दिन पहले मंगलवार को केरल में दस्तक में दे दी
नई दिल्ली (पीटीआर्इ)। इन दिनों गर्मी आैर उमस की वजह से देश के लगभग हर राज्य को मानसून के आने का इंतजार है। देश में मानसून पहुंचने की आधिकारिक तिथि एक जून मानी जाती है लेकिन केरल में इस बार मानसून ने समय से तीन दिन पहले मंगलवार को दस्तक दे दी।बारिश आैर ठंडी हवाआें से यहां लोगों के चेहरे के खिल उठे। वहीं मानसून को लेकर भारतीय मौसम विभाग (आर्इएमडी)  का कहना है कि मानसून के दस्तक देने के साथ ही देश में चार महीने के बरसात के मौसम की शुरुआत हो जाती है।

डेढ़ महीने से कुछ अधिक समय के अंदर पूरे देश में पंहुच जाएगा मानसून
बुधवार को कर्नाटक, केरल, लक्षद्वीप, अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में जोरदार बारिश होने की आशंका है।आने वाले दिनों में यह केरल से आगे बढ़ सकता है।इसके साथ ही मध्य अरब सागर, केरल के बाकी हिस्सों, तटीय व दक्षिण कर्नाटक, पूर्व मध्य भारत, बंगाल की खाड़ी में इसके आगे बढ़ने की स्थितियां अनुकूल दिख रही हैं।मानसून का असर पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के राज्यों में भी दिख सकता है।मानसून डेढ़ महीने से कुछ अधिक समय के अंदर पूरे देश में पंहुच जाएगा।

उत्तर एवं मध्य भारत को फिलहाल गर्मी से राहत की बिल्कुल उम्मीद नहीं
मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आमतौर परमानसून का अंतिम पड़ाव राजस्थान का श्री गंगानगर जिले होता है।यहां यह  15 जुलाई के करीब दस्तक देता है।बीते साल बरसात के मौसम की शुरुआत 30 मई से हो गई थी।वहीं आर्इएमडी ने अनुमान जताया है कि हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, बिहार और बंगाल जैसे कर्इ राज्यों के कुछ हिस्सों में भी तेज हवाएं चल सकती हैं। हालांकि इससे उत्तर एवं मध्य भारत को फिलहाल गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

सबको क्यों रुला गए राजेश? पत्रकारिता से सफर शुरू करने वाले ASP साहनी आतंकियों के थे बड़े दुश्मन

16 घंटे बीते फिर भी नहीं बुझी : दिल्ली में अब हेलीकाॅप्टर से हो रहा भीषण आग पर काबू पाने का प्रयास

National News inextlive from India News Desk