कानपुर। भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट शुकवार से पर्थ के ऑप्टस स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैदान पर यह पहला टेस्ट मैच होगा। इससे पहले दो वनडे मैच यहां खेले जा चुके हैं। इसके अलावा कई घरेलू मैच भी यहां आयोजित हो चुके। इस मैदान की खासियत है कि यहां की पिच बाहर से बनकर आती है, जिसे 'ड्राॅप इन' पिच भी कहते हैं।

क्या होती है ड्राॅप इन पिच
जब कोई क्रिकेट पिच मैदान से बाहर बनाकर यहां लाई जाती है उसे 'ड्राॅप इन' पिच कहते हैं। भारत में इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल भले न होतो हो मगर ऑस्ट्रेलिया में 'ड्राॅप इन' पिचें आम बात हैं। ऑप्टस स्टेडियम की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया में 'ड्राॅप इन' पिचों का पहली बार इस्तेमाल 1996 में किया गया था। मौजूदा वक्त में ऑस्ट्रेलिया के पांच मैदानों मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, स्पाॅटलेस स्टेडियम सिडनी, एतिहाद स्टेडयिम मेलबर्न, एडीलेड ओवल और ऑप्टस स्टेडयिम पर्थ में 'ड्राॅप इन' पिचों का इस्तेमाल किया जाता है। इन पिचों को मैदान से बाहर तैयार किया जाता है। इस विकेट में उसी मैदान की मिट्टी और घास का उपयोग किया जाता है। पिच बनाने के बाद वहां पर घरेलू मैच कराया जाता है ताकि उसकी टेस्टिंग हो सके। फिर इसे क्यूरेटर की निगरानी में मैदान में लाकर गाड़ दिया जाता। पिच को लाने के लिए बड़ी-बड़ी क्रेनों का इस्तेमाल किया जाता है।
जानें क्या होती है ड्राॅप इन पिच,जिस पर खेला जा रहा भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच
ऐसा होगा पिच का नेचर
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट ऑप्टस स्टेडियम की 'ड्राॅप इन' पिच पर खेला जाएगा। पिच क्यूरेटर ब्रेट की मानें तो यह मैच पांच दिनों से पहले खत्म हो जाएगा। जो भी कप्तान यहां टाॅस जीतेगा वह पहले बाॅलिंग ही करेगा। यहां की पिच काफी उछाल भरी है।

तेज गेंदबाजों का रहता है दबदबा
ऑस्ट्रेलिया के ऑप्टस मैदान पर भले ही यह पहला टेस्ट मैच हो मगर इससे पहले जितने भी घरेलू मैच हुए उनमें तेज गेंदबाजों का दबदबा रहा। इस मैदान पर अभी तक कुल 54 विकेट गिरे जिसमें 43 विकेट तो तेज गेंदबाजों के नाम रहे। ऐसे में उम्मीद है कि भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच एक बेहतर जंग देखने को मिल सकती है। भारतीय टीम में इस समय जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी जिस रफ्तार के साथ गेंदबाजी कर रहे। उसे देखकर लगता है ऑप्टस की पिच उनके अनुकूल होगी।

Ind vs Aus : एक और टेस्ट जीत गए तो 86 सालों में भारत का विदेश में यह सबसे अच्छा प्रदर्शन होगा

आईपीएल 2019 : इस बार सबसे मंहगे खिलाड़ियों में कोई भारतीय नहीं, 18 दिसंबर को होगी नीलामी

Cricket News inextlive from Cricket News Desk