भारत की मजबूत टीम गुरुवार को  बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के पहले वनडे मैच में नई शुरुआत करने के इरादे से उतरेगी। यह सीरीज भारत से ज्यादा बांग्लादेश के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि अगर वह सीरीज जीत जाती है, तो चैंपियंस लीग के लिए उसे क्वालीफाई नहीं करना पड़ेगा। विश्व कप के बाद यह पहला मौका होगा, जब महेंद्र सिंह धौनी एक बार फिर भारतीय वनडे टीम का नेतृत्व करते नजर आएंगे। भारतीय टीम को विश्व कप सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। टीम इंडिया उसे भुलाकर नई शुरुआत करने उतरेगी।  

भारत को ऐसी टीम का सामना करना है, जिसने विश्व कप 2015 के क्वार्टर फाइनल में पहुंचकर अपनी प्रतिभा की झलक दिखाई थी उसे नॉकआउट मुकाबले में धौनी की टीम ने ही हराया था। यह सीरीज बांग्लादेश के पास विश्व कप की हार का बदला लेने का मौका है। विश्व कप क्वार्टर फाइनल हालांकि विवाद का हिस्सा भी रहा, जब आइसीसी के तत्कालीन अध्यक्ष बांग्लादेश के मुस्तफा कमाल ने अंपायरों पर भारत का पक्ष लेने का आरोप लगाया।

तैयार है टीम इंडिया
जहां तक मुकाबले की बात है तो भारतीय टीम निश्चित तौर पर बांग्लादेश से ज्यादा मजबूत और संतुलित है। खासकर विश्व कप के प्रदर्शन के बाद से भारतीय टीम से उम्मीदें और ज्यादा होंगी। भारत ने इस सीरीज के लिए करीब-करीब उन्हीं खिलाडिय़ों को चयन किया है जो विश्व कप में भी टीम के साथ थे। भारत पिछले जून में इस टीम के खिलाफ खेली गई सीरीज की तुलना में मौजूदा सीरीज को अधिक तवज्जो दे रहा है। भारत ने तब अपने आठ मुख्य खिलाडिय़ों को तीन वनडे मैचों के दौरे के लिए आराम दिया था, जबकि इस बार उनमें से सात टीम का हिस्सा हैं। हाल में बांग्लादेश टीम के प्रदर्शन को देखते हुए भारत वनडे में मेजबान टीम को हल्के में लेने की गलती नहीं कर सकता। बांग्लादेश ने हाल में जिंबाब्वे और पाकिस्तान का क्लीन स्वीप किया और 50 ओवर के प्रारूप में उसकी टीम काफी संतुलित नजर आती है।  

ओपनिंग करेंगे धवन और रोहित
शिखर धवन और रोहित शर्मा पारी की शुरुआत करेंगे, जबकि अजिंक्य रहाणे शीर्ष क्रम को मजबूती देंगे। ऑलराउंडर का स्थान जडेजा को मिलेगा, जबकि गेंदबाजी आक्रमण में उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, अश्विन और मोहित शर्मा को मौका मिल सकता है। टीम प्रबंधन इसके अलावा कम से कम एक मैच में स्टुअर्ट बिन्नी या धवल कुलकर्णी को आजमाने पर विचार कर सकता है।

खतरनाक हो सकते हैं तस्कीन
भारत के खिलाफ अपने पदार्पण वनडे में 28 रन देकर पांच विकेट चटकाने वाले तस्कीन अहमद एक बार फिर इस प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेंगे। इसके अलावा टीम के पास मशरफेमुर्तजा, तमीम इकबाल और ऑलराउंडर शाकिब अल हसन जैसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने टीम के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। मुशफिकुर रहीम 18वें स्थान के साथ आइसीसी रैंकिंग में बांग्लादेश के शीर्ष बल्लेबाज हैं। अगर वह अंगुली की चोट से उबर जाते हैं तो बांग्लादेश की बल्लेबाजी को मजबूत मिलेगी नहीं तो विकेटकीपर बल्लेबाज लिटन दास को पदार्पण का मौका मिल सकता है। इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप मैच में अंतिम दो विकेट चटकाकर टीम को जीत दिलाने वाले 25 साल के तेज गेंदबाज रूबेल हुसैन भी चोट से उबरने के बाद वापसी की दौड़ में शामिल हैं।

बारिश बन सकती है विलन
फातुल्ला में हुए एकमात्र टेस्ट में जिस प्रकार बारिश ने बाधा पहुंचाई उसे देखते हुए यहां भी इससे इन्कार नहीं किया जा सकता। बांग्लादेश में पहली बार जून में सीरीज का आयोजन किया जा रहा है। इस समय वहां हर दिन बारिश की संभावना बनी रहती है। टेस्ट मैच के पांचों दिन बारिश ने खलल डाली।

टीमे
भारत: महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, विराट कोहली, सुरेश रैना, अंबाती रायुडू, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, मोहित शर्मा, स्टुअर्ट बिन्नी और धवल कुलकर्णी।

बांग्लादेश: मशरफेमुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, मोमिनुल हक, मुशफिकुर रहीम, शाकिब अल हसन, शब्बीर रहमान, नासिर हुसैन, अराफात सनी, तस्कीन अहमद, रूबेल हसन, रोनी तालुकदार, मुस्तफिजुर रहमान और लिटन दास।

Hindi News from Cricket News Desk

Cricket News inextlive from Cricket News Desk