नई रणनीति के साथ उतरेंगे मैदान पर
लीड्स (पीटीआई)। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने भारतीय चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव से निपटने का फॉर्मूला बताया है। मौजूदा भारत-इंग्लैंड सीरीज में कुलदीप टीम इंडिया के लिए ट्रंप कार्ड साबित हुए हैं। दो वनडे मैचों में वह कुल 9 विकेट चटका चुके हैं। ऐसे में इंग्लिश खिलाड़ी आखिरी मैच में यादव के खिलाफ नई रणनीति के साथ मैदान में उतरेंगे। मार्क वुड ने प्री-मैच प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'दूसरे वनडे में हमारे बल्लेबाजों ने कुलदीप के खिलाफ जिस तरह से बल्लेबाजी की उससे थोड़ी बहुत राहत मिली है। यादव ने भले ही पिछले मैच में तीन विकेट निकाले मगर बल्लेबाजों ने उनके खिलाफ रन बनाए और कुलदीप का दबाव में लाने की कोशिश की।'
कुलदीप यादव को रोकने के लिए इंग्लैंड ने बनाया ये प्लॉन,सफल हुआ तो हार जाएगा भारत
पहले ओवर में नहीं देंगे विकेट
इंग्लैंड ने कुलदीप पर काफी होम वर्क किया है। वुड ने बताया, 'कुलदीप की सफलता की बड़ी वजह है उनका पहले ओवर में विकेट चटकाना। अगर उसे (कुलदीप) को पहले ओवर में विकेट मिल जाती है तो उनका कांफिडेंस बढ़ जाता है। ऐसे में हमें चाहिए कि उनका पहला ओवर खाली जाने दे। अगर कुलदीप को विकेट नहीं मिलेंगी तो वह दबाव में आएगा जिससे मोमेंटम हमारी तरफ शिफ्ट हो जाएगा।' खैर इंग्लैंड के लिए तीसरा मुकाबला किसी बड़े टूर्नामेंट के फाइनल जैसा होगा। इस मैच में जो भी टीम दबाव में अच्छा प्रदर्शन कर गई, मैच के साथ-साथ सीरीज भी उसी के नाम होगी।

38 गेंदें डॉट फेंककर कुलदीप ने झटके थे 6 विकेट

पहले वनडे में भारत की जीत के हीरो कुलदीप यादव रहे। जिन्होंने 10 ओवर में 25 रन देकर 6 विकेट चटकाए थे। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा की मानें तो इंग्लैंड में किसी भारतीय रिस्ट स्पिनर का यह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। कुलदीप के इस शानदार स्पेल की एक और खासियत रही कि उन्होंने 38 गेदें डॉट फेंकी वहीं कुल 60 गेंदों में कोई चौका या छक्का नहीं दिया। भारतीय चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप ने इस मैच में जेसन रॉय, बेयरेस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जोस बटलर और डेविड विली को अपना शिकार बनाया था।
कुलदीप यादव को रोकने के लिए इंग्लैंड ने बनाया ये प्लॉन,सफल हुआ तो हार जाएगा भारत
छक्के वाली गेंद पर लेते हैं विकेट
टी-20 सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन करके आए कुलदीप वनडे में भी अपना जलवा बिखेर रहे। अभी कुछ दिनों पहले पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में यादव ने कहा था कि उन्हें प्रेशर को हैंडल करने की आदत है। इसका श्रेय वो बचपन में हुई उस ट्रेनिंग को देते हैं जिसके चलते वह निडर गेंदबाज बने। 23 साल के इस युवा भारतीय स्पिनर का कहना है, 'जब मैंने क्रिकेट खेलना शुरु किया तो मेरे कोच कपिल पांडेय ने सिखाया कि तुम गेंद ऐसे फेंको ताकि बल्लेबाज छक्का मार सके। मैंने इसका खूब अभ्यास किया। मुझे अब दबाव महसूस नहीं होता, क्योंकि ये चीज ऐसी है जिसे मैंने काफी जल्दी सीख लिया और इसका मुझे काफी फायदा भी हो रहा।' कुलदीप आगे कहते हैं, 'अगर आप विकेट लेना चाहते हैं तो गेंद को टर्न कराना जरूरी हो जाता है। अगर गेंद घूमती नहीं है तो समझिए आप एक बेहतर स्पिनर नहीं हैं।'

इनके कहने पर चाइनामैन गेंदबाज बने थे कुलदीप यादव, बात न मानते तो आज कर रहे होते ये काम

कुलदीप का खुलासा, छक्के वाली गेंद पर लेता हूं विकेट

Cricket News inextlive from Cricket News Desk