कानपुर। इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज हारने के बाद विराट कोहली को अब टेस्ट चुनौती मिलने वाली है। भारत बनाम इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच एक अगस्त को एजबस्टन में खेला जाएगा। इंग्लैंड में टेस्ट रिकॉर्ड की बात करें तो भारत ने अब तक यहां कुल 17 टेस्ट सीरीज खेली हैं जिसमें सिर्फ तीन में उन्हें जीत मिली जबकि 13 बार हार का सामना करना पड़ा हैं। वहीं एक सीरीज ड्रा रही। बतौर कप्तान विराट का यह पहला इंग्लैंड दौरा है हालांकि वह वनडे में जीत के साथ खाता तो नहीं खोल पाए मगर टेस्ट में अपने नाम एक नायाब रिकॉर्ड जरूर बनाना चाहेंगे। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, भारत को इंग्लैंड में आज तक सिर्फ तीन कप्तान टेस्ट सीरीज जितवा पाए हैं। उसमें अजीत वाडेकर, कपिल देव और राहुल द्रविड़ का नाम आता है। अब विराट इस लिस्ट में अपना नाम जोड़ पाते हैं या नहीं यह तो वक्त बताएगा।

अजीत वाडेकर ने जितवाई थी पहली टेस्ट सीरीज

भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत 1932 में हुई थी। भारतीय टीम एक टेस्ट मैच की सीरीज खेलने इंग्लैंड दौरे पर गई थी। तब भारत के पहले टेस्ट कप्तान सीके नायडू ने इस मैच में टीम इंडिया की कमान संभाली थी। हालांकि भारत यह मैच हार गया था मगर पहली जीत के लिए टीम इंडिया को तकरीबन 40 साल लंबा इंतजार करना पड़ा। 1971 में अजीत वाडेकर की अगुआई में भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली। पहले दो मैच ड्रा रहने के बाद भारत के पास आखिरी मैच जीतकर इतिहास रचने का मौका था। भारत के पहले वनडे कप्तान भी रहे अजीत वाडेकर ने इस टेस्ट मैच को हाथ से नहीं जाने दिया। ओवल में खेला गया यह मैच भारत 4 विकेट से जीत गया इसी के साथ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 1-0 से अपने नाम की।

86 सालों में जीत पाए सिर्फ 3 सीरीज
सीमित ओवरों में तो भारत फिर भी थोड़ा अच्छा रहा है मगर जब बात लाल गेंद के खेल की होती है तो इंग्लिश धरती पर टीम इंडिया का रिकॉर्ड काफी निराशाजनक रहा है। क्रिेकइन्फो के डेटा के मुताबिक, पिछले 86 सालों में भारत इंग्लैंड में सिर्फ 3 टेस्ट सीरीज जीत पाया है। अजीत वाडेकर की अगुआई में पहली टेस्ट सीरीज जीत के बाद भारत को फिर 15 साल इंतजार करना पड़ा। 1986 में कपिल देव की कप्तानी में टीम इंडिया तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने इंग्लैंड गई थी और भारत ने यह सीरीज 2-0 से अपने नाम की। दो टेस्ट सीरीज जीतने के बाद तीसरी सीरीज जीत के लिए भारत को फिर 2007 तक इंतजार करना पड़ा। तब टीम इंडिया की कमान राहुल द्रविड़ के हाथों में थी। भारत तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने इंग्लैंड गया था। विश्व क्रिकेट में 'द वॉल' नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ को उस वक्त कप्तानी का ज्यादा अनुभव भी नहीं था, इसके बावजूद उन्होंने तीन मैचों की यह सीरीज 1-0 से जीतकर इतिहास रच दिया।

इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीत पाए हैं सिर्फ ये 3 कप्तान, अबकी बार कोहली का इम्तहान

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले 10 भारतीय बल्लेबाज कौन हैं?

Cricket News inextlive from Cricket News Desk