भारत को है पहली जीत का इंतजार
कानपुर। भारत के इंग्लैंड दौरे की शुरुआत मंगलवार को टी-20 मुकाबले के साथ हो रही है। भारत और इंग्लैंड के बीच तीन टी-20 मैचों की सीरीज का पहला मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में खेला जाएगा। दोनों टीमें इस रोमांचक मुकाबले के लिए तैयार हैं। भारत ने हाल ही में आयरलैंड को टी-20 में 2-0 से मात दी है। ऐसे में टीम इंडिया जीत की लय को बरकरार रखना चाहेगी, मगर भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिए यह दौरान आसान नहीं होने वाला है। इंग्लैंड में आज तक भारत कोई टी-20 इंटरनेशनल मैच नहीं जीता है ऐसे में कोहली के ऊपर बतौर कप्तान टीम को जीत दिलाने की अतिरिक्त जिम्मेदारी होगी। न सिर्फ बल्लेबाजी बल्कि कप्तानी में भी कोहली को कुछ नए प्लॉन के साथ मैदान में उतरना होगा।
इंग्लैंड में कोई भी भारतीय कप्तान आज तक नहीं जिता पाया एक भी टी-20,अब कोहली की बारी
कोई भारतीय कप्तान नहीं जिता पाया
2007 टी-20 वर्ल्ड कप में भारत और इंग्लैंड की टीम पहली बार फटाफट क्रिकेट फॉर्मेट में एक-दूसरे के सामने आईं। यह मैच साउथ अफ्रीका के डरबन में खेला गया जिसमें भारत को 18 रन से जीत मिली। उस वक्त टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे। पहला मैच जीतने के बाद 2009 में लॉर्ड्स में फिर दोनों टीमें आमने-सामने आईं। इस बार धोनी की परीक्षा इंग्लैंड की धरती पर थी। भारत यह मैच 3 रन के नजदीकी अंतर से हार गया और यहीं से ब्रिटिश धरती पर भारत की टी-20 में हार का सिलसिला शुरु हो गया।
इंग्लैंड में कोई भी भारतीय कप्तान आज तक नहीं जिता पाया एक भी टी-20,अब कोहली की बारी
तीन मैच खेले और हर बार हारे

इंग्लैंड में भारत को पहले ही टी-20 मैच में हार क्या मिली, उसके बाद टीम इंडिया वहां कभी नहीं जीत पाई। भारत ने इंग्लैंड की धरती पर कुल तीन टी20 इंटरनेशनल मैच खेले। लॉर्ड्स में खेले गए पहले मैच में 3 रन से हार के बाद दूसरा मुकाबला 2011 में मैनचेस्टर में हुआ जहां भारत को 6 विकेट से शिकस्त मिली। वहीं तीसरा मैच 2014 में बर्मिंघम में हुआ जहां फिर भारत को 3 रन से हार मिली। ओवरऑल रिकॉर्ड की बात करें तो भारत-इंग्लैंड के बीच कुल 11 मुकाबले हुए जिसमें भारत को 5 बार जीत मिली वहीं इंग्लैंड के खाते में 6 जीत दर्ज हैं।
इंग्लैंड में कोई भी भारतीय कप्तान आज तक नहीं जिता पाया एक भी टी-20,अब कोहली की बारी
क्या विराट कोहली रच पाएंगे इतिहास
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के पास इतिहास रचने का मौका है। जो काम महेंद्र सिंह धोनी नहीं कर पाए वह विराट कर सकते हैं। कोहली ने 2017 में टी-20 की कमान संभाली और अब तक 14 मैचों में कप्तानी कर चुके हैं। इसमें 9 मैचों में उन्हें जीत मिली जबकि 5 मैच उनके हाथ से निकल गए। खैर आयरलैंड के खिलाफ दो लगातार जीत के बाद विराट काफी कांफिडेंट होंगे।

इस साल कुल 36 रन बनाकर इंग्लैंड खेलने जा रहे कोहली, वहां कैसे बनाएंगे रन?

10 साल पहले 'एक गेंद' के चलते इंग्लैंड में टी-20 मैच हार गया था भारत, फिर आज तक नहीं जीत पाया

Cricket News inextlive from Cricket News Desk