कानपुर। भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का चौथा टेस्ट गुरुवार को साउथैम्पटन में खेला जाएगा। भारत इस सीरीज में 1-2 से पीछे है हालांकि तीसरा टेस्ट जीतकर विराट एंड कंपनी ने सीरीज में वापसी के संकेत दे दिए हैं। अब भारत चौथा टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-2 की बराबरी कर इसे रोमांचक बनाना चाहेगा। हालांकि यह इतना आसान नहीं क्योंकि साउथैम्पटन के जिस रोज बाउल मैदान पर यह मैच खेला जाएगा वहां भारत का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, भारत ने इस मैदान पर एकमात्र टेस्ट खेला जिसमें हार मिली थी।

यहां 266 रन से हार चुका है भारत

साल 2014 में एमएस धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने रोज बाउल मैदान पर एक टेस्ट मैच खेला था। तब भारत को 266 रनों से करारी हार मिली थी। इंग्लिश कप्तान एलिस्टर कुक ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया और उनका यह फैसला तब सही साबित हुआ जब इंग्लिश बल्लेबाजों ने 569 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया। इंग्लैंड की तरफ से बैलेंस (156) और बेल (167) ने सबसे ज्यादा रन बनाए। जवाब में भारत की पहली पारी 330 रन पर सिमट गई। फिर इंग्लैंड ने दूसरी पारी 205 रन पर घोषित कर दी। अब भारत को जीत के लिए 445 रन चाहिए थे।

पूरी टीम हो गई थी फ्लॉप
विशाल लक्ष्य को देख भारत की दूसरी पारी लड़खड़ा गई। टीम के 6 बल्लेबाज तो दहाई का अंक भी नहीं छू पाए थे। भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 52 रन अजिंक्य रहाणे ने बनाए। भारत की पूरी टीम 178 रन पर ऑलआउट हो गई और भारत यह मैच 266 रन से हार गया। इस मैच में भारत की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही निराशाजनक रही थी। खैर इस बात को बीते चार साल हो गए। इस बार टीम भी नई-नवेली है और भारत की कमान विराट कोहली के हाथों में है। इस पुराने रिकॉर्ड को विराट सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे।

इंग्लैंड का ऐसा है रिकॉर्ड
इंग्लैंड का इस मैदान पर ओवरऑल रिकॉर्ड देखें तो मेजबान टीम ने यहां कुल दो टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें कि पहला मैच श्रीलंका के खिलाफ ड्रा रहा था। वहीं दूसरे टेस्ट में भारत के खिलाफ इंग्लैंड ने बाजी मारी। यानी कि इंग्लैंड को यहां अभी तक एक भी बार हार नहीं मिली है।

तीसरे टेस्ट में हुई थी गाली-गलौच, कोई नहीं भूलेगा भारत बनाम इंग्लैंड के ये 5 विवाद

इंग्लैंड में सात टेस्ट जीतने में भारत के 33 कप्तान बदल गए

Cricket News inextlive from Cricket News Desk