कानपुर। भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट में बेस्ट की जंग में विराट सेना पिछड़ गई। पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम 1-3 से निकल गई। अब पांचवां और आखिरी टेस्ट ओवल में होगा जहां भारत जीत भी जाए फिर भी सीरीज अपने नाम नहीं कर सकता। यानी कि कप्तान कोहली का इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीत का सपना अधूरा रह गया। खैर कोहली इंग्लैंड में विराट भले न बन पाए मगर भारत के तीन टेस्ट कप्तान ऐसे हैं जिनके नाम इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीत का रिकॉर्ड दर्ज है। ईएसपीएन क्रिेकइन्फो के डेटा के मुताबिक, भारत ने इंग्लैंड में अभी तक कुल 18 टेस्ट सीरीज खेली हैं जिसमें सिर्फ 3 में उन्हें जीत मिली जबकि 14 बार हार का सामना करना पड़ा। वहीं एक सीरीज ड्रा रहीं।

अगर भारत पांचों टेस्ट हार जाता है तो
भारत आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बना हुआ है। अक्सर देखा जाता है कि किसी बड़ी सीरीज के बाद दोनों टीमों की रैंकिंग में बदलाव जरूर होते हैं। मगर इस बार अगर भारत पांचों टेस्ट हार जाता फिर भी वह नंबर वन बना रहता।
इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के बाद भी नंबर 1 बनी रहेगी टीम इंडिया,जानिए कैसे
नहीं छिनेगी बादशाहत
आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग के अनुसार भारत 125 अंकों के साथ सबसे ऊपर है। वहीं विरोधी टीम इंग्लैंड 97 अंकों के साथ 5वें नंबर पर है। अब अगर भारत बनाम इंग्लैंड की पांच टेस्ट मैचों की सीरीज मेजबान इंग्लैंड के नाम रहती है तो भारत के अंक घटकर 112 हो जाएंगे मगर नंबर वन की कुर्सी नहीं छिनेगी। हालांकि इंग्लैंड को भारत के खिलाफ क्लीन स्वीप का फायदा जरूर मिलता। इंग्लिश टीम पांचों टेस्ट जीतकर 5वें नंबर से सीधे दूसरे पायदान पर आ जाती, मगर भारत ने एक टेस्ट जीतकर उसके इरादों पर पानी फेर दिया।

इंग्लैंड को हो सकता है फायदा
भारत को इंग्लैंड के खिलाफ पांचों टेस्ट जीतने का कुछ ज्यादा फायदा नहीं होता। भारत के खाते में सिर्फ चार अंक बढ़ते। वहीं इंग्लैंड सारे मैच हारकर एक पायदान और फिसल जाती। अगर ये सीरीज 2-2 से ड्रा होती तो दोनों टीमों की स्थिति जस की तस रहती, मगर भारत को 5 अंकों को नुकसान जरूर होता तो वहीं इंग्लैंड 97 से 100 तक पहुंच जाएगी।

विराट के अलावा इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज हारने वाले ये हैं 11 भारतीय कप्तान

टीम इंडिया में शामिल हुआ नया तूफानी गेंदबाज, जो विकेट लेकर ही लौटता वापस

Cricket News inextlive from Cricket News Desk